ग्रह के बारे में बेहद करीबी जानकारी उपलब्ध करवाएगा. नासा का कासिनी अंतरिक्षयान

वाशिंगटन: नासा का अंतरिक्षयान कासिनी शनि के चारों ओर रोमांचकारी ढंग से चक्कर लगाने के लिए तैयार है. यह इसके बाहरी छल्लों के पास से होता हुआ गुजरेगा और ग्रह के बारे में बेहद करीबी जानकारी उपलब्ध करवाएगा.                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                              dddddooooooo

कासिनी नामक अंतरिक्षयान 30 नवंबर से 22 अप्रैल के बीच शनि के ध्रुवों के ऊपर और नीचे से होकर गुजरेगा और कुल 20 बार मुख्य छल्लों के बाहरी छोर के उस क्षेत्र से होकर गुजरेगा, जिसका अन्वेषण अभी तक नहीं किया जा सका है.

आगामी 30 नवंबर को शनि के उपग्रह टाइटन की ओर से गुरूत्वीय धक्के के बाद कासिनी अभियान के अंतिम दौर के पहले चरण में प्रवेश करेगा.

वर्ष 1997 में प्रक्षेपित कासिनी वर्ष 2004 में वहां पहुंचने के बाद से शनि की यात्रा कर रहा है. यह शनि, उसके छल्लों और उसके उपग्रहों का अध्ययन करने गया है.

अपनी यात्रा के दौरान कासिनी ने कई नाटकीय खोजें की हैं, जिनमें टाइटन पर द्रव्य रूप में मौजूद मीथेन के समुद्र मिलना शामिल है.

 

Check Also

गूगल सीईओ सुंदर पिचाई पद्म भूषण से किए गए सम्मानित

गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई पद्म भूषण पुरस्कार से किए गए सम्मानित, कहा-: जहां जाता …