पुलिस ने निकला सच, पति के दोस्त ही निकले गैंगरेपिस्ट

तिरुवनंतपुरम: चर्चित मलयालम डबिंग आर्टिस्ट भाग्य लक्ष्मी ने दो साल पहले हुए गैंगरेप को उजागर कर पीड़िता की आपबीती को अपने फेसबुक पर बयां करके सनसनी फैला दी है। भाग्य लक्ष्मी थ्रिस्सूर में रहने वाली पीड़िता के साथ हुई दर्दनाक घटना के खिलाफ आवाज उठाई है और उसे न्याय दिलाने की मुहिम चलाई। इस पोस्ट से सामने आया है कि किस तरह गैंगरेप के खिलाफ शिकायत करने पहुंची पीड़िता से कथित रूप से पुलिस ने डर्टी सवाल पूछे। पुलिस ने पीड़िता से पूछा कि वारदात के दौरान उसे किस शख्स से ज्यादा मजा मिला। शुक्रवार को डीजीपी ने पीड़िता द्वारा लगाए गए आरोपो पर पुलिस के खिलाफ जांच का आदेश दे दिए हैं। बता दे कि इस पोस्ट वायरल होने के बाद मुख्यमंत्री के ऑफिस ने इसमें दखल देते हुए, कार्रवाई का भरोसा दिलाया है।
पीड़िता को गुजरना पड़ा मानसिक प्रताड़ना से
भाग्यलक्ष्मी ने फेसबुक पोस्ट में उस महिला के हवाले से लिखा कि ‘पुलिस के सवालों का जवाब देना मेरे लिए मानसिक बलात्कार होने जैसा था। शायद उन्होंने मानसिक तौर पर मुझे इसलिए प्रताड़ित किया क्योंकि वे जानते थे कि मेरे पास कोई सबूत नहीं है। अच्छा हुआ कि निर्भया, जिशा और सौम्या जैसी बलात्कार पीड़ित लड़कियों की मौत हो गई वरना उन्हें भी ऐसी मानसिक प्रताड़ना से गुजरना पड़ता।’पोस्ट के वायरल होने के बाद मुख्यमंत्री के दफ्तर ने इसका संज्ञान लिया और भाग्यलक्ष्मी से इस बारे में और जानकारी मांगी।
पति के साथ भाग्यलक्ष्मी के घर पहुंची थी पीड़िता
भाग्यलक्ष्मी ने जानकारी दी कि थ्रिसुर की रहने वाली एक महिला तीन हफ्ते पहले अपने पति के साथ उनके घर आई थी जो अपने साथ हुई रेप की घटना के बारे में बात करना चाहती थी। महिला के साथ यह भयानक घटना दो साल पहले हुई थी जिसमें एक स्थानीय नेता समेत चार लोग शामिल थे, वे सभी महिला के पति के दोस्त थे।पीड़ित महिला इतनी बुरी तरह टूट चुकी थी कि पुलिस के पास जाकर शिकायत करने की हिम्मत नहीं जुटा पाई। किसी तरह तीन महीने बाद जब वह पुलिस के पास गई तो उसे मानसिक प्रताड़ना झेलनी पड़ी।

Check Also

नीलांश वाटर पार्क को लेकर क्या मिलेगी किसानों को न्याय ?

बीकेटी, लखनऊ। बख्शी का तालाब तहसील क्षेत्र के इटौंजा थाना एनएच हाइवे सीतापुर रोड ओवर …