पूरी जिंदगी को भगवा रंग में रंग लिया इस शिवसेना का भक्त ने

puna-2_110416055513puna-1_110416055513puna-5_110416055513puna-3_110416055513

पुणे में रहने वाले 55 साल के मोहन यादव की धड़कन शिवसेना है. उनके कण-कण में बालासाहेब ठाकरे बसते हैं. मोहन यादव शिवसेना के सबसे बड़े प्रशंसक हैं. इसके लिए उन्होंने अपनी जिंदगी के तौर तरीके बदल दिए हैं. मोहन यादव ने अपनी मोटरसाइकिल को भगवा रंग से रंग दिया.
मोहन ने मोटरसाइकिल का रंग भगवा करने के साथ उसपर शिवसेना की निशानी तीर कमान, छत्रपति शिवजी महाराज की बड़ी तस्वीर, झंडा और बालासाहेब के अनगिनत फोटो लगा रखे हैं. इनकी मोटरसाइकिल के टायर से लेकर सीट का रंग भगवा है. मोहन यादव की कैप, गोगल, घड़ी, नेल पोलिश, शर्त, पेंट, बनियान और जूते सब चीजों का रंग भगवा यानी केसरिया है.
मोहन यादव के घर में सिर्फ बालासाहेब की तस्वीरें हैं. मोहन यादव की कैप, गोगल, घड़ी और नेल पॉलिश और जूते सब भगवा रंग की है. उनके घर की हर एक चीज भगवा रंग की ही है घर में बेडशीट भगवा रंग की है. सोते वक्त ओढ़ने की चादर, खाने की थाली, चाय की प्याली, पानी पीने का प्याला भी भगवे रंग का ही है.
मोहन यादव ने बताया कि जब मोहन यादव मुंबई में मातोश्री पर गए तो खुद बालासाहेब मोहन से मिलने और उनकी खास मोटरसाइकिल देखने मातोश्री के बाहर पहुंचे थे. बाला साहेब के भाषण से मोहन यादव पहले ही प्रभावित हुए थे, लेकिन बाला साहेब जब उनसे मिलने मातोश्री के बाहर आये तब से मोहन यादव के लिए बालासाहेब ही देवता के बराबर हो गए. मोहन के मुताबिक, भक्त से मिलने भगवान मंदिर के बाहर आये, इससे बड़ी बात कोई और नहीं.
मोहन यादव ने अपने दोनों बेटों का नाम उद्धव और राज रखा है. जब राज ने उनसे मोटरसाइकिल की सवारी करने की दरख्वास्त की तो मोहन यादव ने मना कर दिया. उन्होंने कहा कि अब राज ठाकरे शिवसेना में नहीं हैं तो शिव सेना की मोटरसाइकिल की सवारी नहीं कर सकते.पुणे महापालिका में बगीचे के सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करने वाले मोहन यादव शिवसेना के किसी भी प्रत्याशी के चुनाव प्रचार के लिए अपनी खास मोटर साइकिल पर जाते हैं.

Check Also

राखी सावंत ने लिया बड़ा फैसला

राखी सावंत हमेशा ही सुर्खियों में बनी रहती है। रखी ने एक बहुत बड़ा फैसला …