पूर्व फौजी रामकिशन का हुआ अंतिम संस्कार

भिवानी/बहादुरगढ़. वन रैंक-वन पेंशन की मांग को लेकर सुसाइड करने वाले पूर्व सूबेदार रामकिशन ग्रेवाल का गुरुवार को राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार कर दिया गया। इस मौके पर रामकिशन के घर पहुंचे सीएम अरविंद केजरीवाल ने उनके परिवार को एक करोड़ रुपए की मदद देने का एेलान किया है। अंतिम संस्कार में राहुल गांधी, कमलनाथ, भूपेंद्र सिंह हुड्डा समेत कई नेता पहुंचे।
राज्य सरकार ने किया राजकीय सम्मान से अंतिम संस्कार का फैसला…
– राज्य सरकार ने तय किया था कि रामकिशन का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान से किया जाएगा।
– भिवानी पहुंचे राहुल गांधी ने रामकिशन की पत्नी किताब कौर से मिलने की कोशिश की, लेकिन यह मुमकिन नहीं हो पाया।
– राहुल की परिवार के बाकी लोगों से मुलाकात हुई। उन्होंने इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी उनके साथ खड़ी है।
– राहुल के अलावा प्रदेश प्रभारी कमलनाथ, कांग्रेस के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा और अशोक तंवर भी भिवानी पहुंचे। उन्होंने रामकिशन के परिवार को सांत्वना दी।
– बीजेपी की तरफ से अंबाला के सांसद रत्नलाल कटारिया और भिवानी के सांसद धर्मबीर सिंह भी रामकिशन के अंतिम संस्कार में पहुंचे।
– प्रदेश सरकार की तरफ से परिवहन मंत्री कृष्णलाल पंवार पहुंचे। उन्होंने प्रदेश सरकार की ओर से की गई मदद की जानकारी दी।
सुसाइड के बाद बुधवार को दिल्ली में खूब हुई राजनीति
– रामकिशन कई दिनों से जंतर-मंतर पर प्रोटेस्ट कर रहे थे। बुधवार को उन्होंने जहर खाकर सुसाइड कर लिया था।
– जब आप और कांग्रेस के नेता ग्रेवाल के परिवार से मिलने पहुंचे थे तो पुलिस ने उन्हें रोक लिया था।
– पूर्व फौजी के परिवार से मिलने पहुंचे राहुल गांधी को दो बार पुलिस ने हिरासत में ले लिया था।
– अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया समेत दिल्ली की आधी कैबिनेट को भी हिरासत में ले लिया गया था। केजरीवाल और सिसोदिया को देर रात रिहा कर दिया गया।
केजरीवाल बोले- मुझे जेल में डाल देते, फौजी के परिवार पर जुल्म क्यों किया
– उधर, गुरुवार सुबह भिवानी पहुंचने से पहले बहदुरगढ़ में दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने इस घटना को लोकतंत्र पर चोट बताया है।
– भिवानी जाते समय बहादुरगढ़-दिल्ली बॉर्डर पर कार्यकर्ताओं से मिलने के लिए कुछ देर ठहरे केजरीवाल ने कहा, “वह छोटे आदमी हैं। उन्हें दिल्ली पुलिस जेल में डाल देती, लेकिन देश की सीमा की रक्षा करने वाले फौजी के परिवार को जेल में डालना कहां का न्याय व कानून है।”
– “इसके लिए दिल्ली पुलिस के खिलाफ कार्यवाही होनी चाहिए और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इसके लिए माफी मांगनी चाहिए।”
परिवार के मेंबर को मिलेगी नौकरी, 10 लाख रुपए
– हरियाणा सरकार ने ग्रेवाल का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ करने का फैसला किया है।
– परिवार को 10 लाख रुपए की मदद और एक मेंबर को नौकरी दी जाएगी।

Check Also

दोषियों की रिहाई को लेकर बिलकिस बानो ने दाखिल की रिव्यू पिटीशन

बिलकिस बानो की ओर से ये कहा गया है कि इस मामले में रिहाई की …