प्रसूता की मौत, मोर्चरी में शव को कुतर गए चूहे इलाज के कोताही के बाद

कैथल। इलाज के लिए सरकारी अस्पताल पहुंची प्रसूता ने इलाज में लापरवाही के कारण दम तोड़ दिया। हद तो तब हो गई जब मोर्चरी में रखे शव की आंख और हाथ-पैर की अंगुलियां चूहों ने कुतर दी। वहीं अस्पताल प्रशासन मामला संज्ञान में न होने की दुहाई दे रहे हैं।

मोहना निवासी कर्मबीर ने बताया कि वह 15 नवंबर को पत्नी सीमा को प्रसव पीड़ा के बाद डिलीवरी के लिए नागरिक अस्पताल में लेकर आया था। देर रात करीब ढाई बजे उसे आपरेशन से बेटी पैदा हुई। डिलीवरी के बाद जच्चा बच्चा दोनों स्वस्थ थे। शनिवार रात पत्नी सीमा को खांसी व बलगम की ज्यादा शिकायत हुई। उन्होंने ड्यूटी पर मौजूद नर्स को प्रसूता का चेकअप के लिए बुलाया, लेकिन नर्स नहीं आई। दूसरी बार गया तो नर्स ने कटोरी में दवाई डालकर दी, जिससे कोई आराम नहीं हुआ।

कई चक्कर लगाने के बाद जब कर्मबीर ज्यादा परेशान हो गया तो उसने अपनी मां संतरो को नर्स के पास भेजा। इस बार भी उसने स्वयं आने के बजाय जूनियर को चेकअप के लिए भेज दिया। आरोप है कि नर्स का यह ड्रामा तीन घंटे चला। इतने लंबे समय में महिला की बेड पर ही मौत हो गई। कर्मबीर ने बताया कि उसकी पत्नी की मौत के बाद रात के समय ही शव को फ्रीजर में रख दिया गया।

बोर्ड से करवाया पोस्टमार्टम इलाज में लापरवाही की सूचना पर डीएसपी तरुण सैनी मौके पर पहुंचे और परिजनों व चिकित्सकों से बातचीत की। डीएसपी ने बताया कि चिकित्सकों के बोर्ड में स्त्री रोग विशेषज्ञ भी शामिल हैं। जांच में लापरवाही मिली तो कानूनी कार्रवाई होगी। सीएमओ कैथल डॉ. मुनीष बंसल का कहना है कि बोर्ड द्वारा मृतका का पोस्टमार्टम कराया गया है। किसी की लापरवाही स्पष्ट होती है तो कार्रवाई की जाएगी। चूहों द्वारा शव कुतरने की बात मेरे संज्ञान में नहीं है।

Check Also

लखनऊ में 5 मंजिला इमारत गिरने से मचा हड़कंप

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में मंगलवार की शाम को एक पांच मंजिला इमारत भरभराकर …