भतीजे के प्रति चाचा शिवपाल का छलका दर्द:

सपा के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव का दर्द आज रजत जयंती में फूट पड़ा। उन्होंने कार्यक्रम में कहा, मुझे सीएम नहीं बनना कभी भी नहीं बनना। जितना त्याग मांगोगे करूंगा, खून मांगोगे खून भी दूंगा।

शिवपाल ने कहा, मेरा कितना भी अपमान कर लेना कितनी बार भी बर्खास्त कर लेना पर मैं पीछे हटने वाला नहीं। उन्होंने अखिलेश की तारीफ की और कहा क‌ि हमने  चार साल में अखिलेश को पूरी मदद की है।

श‌िवपाल ने मंच पर ही अपने व‌िभाग की उपलब्ध‌ियां ग‌िनवाईं, पीडबल्यूडी और मेरे विभागों में आपके विभागों से कम अच्छा काम नहीं हुआ है। सिंचाई में राजस्व संहिता 26 साल से लागू नहीं हो रही थी। अधिकारियों ने रोड लगाए थे। जो काम तीन महीने में होना था उसमें सालों लग रहे थे। दो साल में 40 तहसीलें बनाई। 50 सहकारी में 25 बांक्स बंद हो रही थीं मैंने उसे बचाया।

जल संसाधन विभाग में पता कर लेना 3500 तालाब खुदवाए जहां लबालब पानी है। उन्होंने कहा, हमारे बीच में घुसपैठिए हैं पर उनसे सावधान रहने की ज़रूरत। चाहे जितना अपमान कर लेना मुझे बर्खास्त कर लेना पर नेता जी का अपमान हुआ तो बर्दाश्त नहीं करेंगे

एक दिन मैंने कहा था की कुछ लोगों को भाग्य से मिलता है कुछ को मेहनत से। कुछ लोगों ने ज़रा सी चापलूसी कर ली इन्होंने सरकार का पूरा मज़ा लिया और कुछ संघर्ष करते रह गए।चौटाला को पूरा हरियाणा ताऊजी कहते थे। आज संकट में है। और संघर्ष कर रहे हैं।

Check Also

अखिलेश और शिवपाल के नजदीक होने से प्रसपा नेता बैचेन

यह समाजवादी पार्टी के उस समय के दृश्य हैं,जब पूरा परिवार “मुखिया मुलायम सिंह यादव” …