प्रधानमंत्री मोदी ने कहा भ्रष्टाचार और काले धन के खिलाफ लड़ाई जारी रहेगी

नोटबंदी- को लेकर विपक्ष की आलोचना से बेखबर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर कहा है कि काले धन के खिलाफ लड़ाई जारी रहेगी.
आज आम आदमी भ्रष्टाचार और काले धन के खिलाफ सैनिक बन चुका है. काले धन छुपाने का वक्त नहीं मिलने से कुछ लोग नाराज हैं. भ्रष्टाचार को लेकर भारत की स्थिति अक्सर खराब बताई जाती है, हमें इसमें सुधार करने की जरूरत है.
संविधान दिवस (26 जनवरी) से ठीक एक दिन पहले नई दिल्ली स्थित संसद भवन में एक कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले कुछ साल में संविधान को लेकर जनता अपने कर्तव्य को भूल गई थी, उसे केवल अपने अधिकार याद थे.

narendra-modi_650x400_51467085176
प्रधानमंत्री ने बताया, ‘सबको अपने पैसे खर्च करने का हक है. हालांकि, अब दुनिया बदल रही है. अब सब जगह डिजिटल करेंसी पर जोर दिया जा रहा है. हमें भी उसी ओर बढ़ने की जरूरत है.’
उन्होंने कहा कि आलोचना ये है कि सरकार ने पूरी तैयारी नहीं की. पीड़ा इस बात की है कि सरकार ने तैयारी करने का मौका नहीं दिया.
हमलोग 26 जनवरी को बड़े गर्व से मनाते हैं, लेकिन 26 नवंबर के बिना 26 जनवरी अधूरा है. हमलोगों को संविधान की आत्मा से जुड़ने की जरूरत है ना केवल संविधान के अनुच्छेद को जानना चाहता है.
गौरतलब है कि मोदी सरकार की गुरुवार रात हुई कैबिनेट की बैठक में यह फैसला लिया गया है कि कोई भी शख्स अब बैंकों में जाकर 1000 और 500 रुपए के पुराने नोट को नहीं बदल सकेगा. यह फैसला 24 नवंबर की आधी रात से लागू हो गया.
इसके बाद सरकार के इस फैसले की तीखी आलोचना हो रही है. बैंकों और एटीएम के बाहर अभी भी लंबी कतार लगी हुई है. ऐसे में सरकार के इस फैसले को लेकर लोगों की परेशानियां बढ़ गई है.

 

Check Also

अखिलेश और शिवपाल के नजदीक होने से प्रसपा नेता बैचेन

यह समाजवादी पार्टी के उस समय के दृश्य हैं,जब पूरा परिवार “मुखिया मुलायम सिंह यादव” …