भ्रष्टाचार के नाम पर मोदी सरकार ने किया बड़ा घोटाला, अपने लोगों को पहले दी जानकारी

मोदी सरकार द्वारा 500 और 1000 के नोट बंद किए जाने पर केजरीवाल ने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि नोट बंद करने के बाद धीरे-धीरे सबूत सामने आ रहे हैं. कई घोटाले हो रहे हैं. 8 नवंबर को ऐलान से पहले पीएम ने अपने दोस्तों और बीजेपी के लोगों को सतर्क किया, जिनके पास काले धन थे उन्होंने अपना माल ठिकाने लगाया.

केजरीवाल ने कहा कि बीजेपी की लोगों ने कालेधन को ठिकाने लगाया. डॉलर को 2000 के नोट से बदला जा रहा है. भारी मात्रा में पैसे बैंक में डिपॉजिट हो रहे थे. कालेधन वाले सोना, डॉलर खरीद रहे हैं.

मोदी जी का सर्जिकल स्ट्राइक कालेधन के ऊपर नहीं है, आम जनता ने जो सेविंग्स की है उस पर स्ट्राइक है. दिल्ली के सीएम ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बीजेपी पर ये आरोप लगाए. उन्होंने इस दौरान वीडियो के माध्यम से सबूत भी दिखाए. उन्होंने मांग की है कि 500 और 1000 के नोट बंद किए जाने के फैसले को वापस लेना चाहिए. उन्होंने कहा कि जुलाई से सितंबर के क्वॉर्टर में अचानक से काफी रुपया जमा किया गया. अब आम जनता को तंग किया जा रहा है. सरकार कहना चाहती है कि ढाई लाख रुपये से ऊपर जमा मत करवाना, हमारे दलाल आने वाले हैं, उनसे डील कर लेना.

बीजेपी ने पलटवार करते हुए कहा कि आम आदमी पार्टी को सत्ता की चाहत है, उनका रुख बेतुका है. एक तरफ तो वे कालेधन के खिलाफ हैं और दूसरी तरफ वे इस निर्णय का विरोध कर रहे हैं.

 

Check Also

बिहार के बक्सर में होगा बुलेट ट्रेन का स्टॉपेज ,दिल्ली तक का सफर महज छह घंटे में होगा पूरा

बिहार से दिल्ली जाने के लिए भारतीय रेलवे एक बड़ी सौगात लोगों को देने वाली …