महिलाओं में डायबिटीज होन का खतरा अधिक……..

एम्स में हुए एक शोध में पता चला है कि हार्मोनल असंतुलन की स्थिति पॉलिसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (पीसीओएस) से पीड़ित महिलाओं को डायबिटीज होने की आशंका अधिक रहती है.देश में 23 फीसदी महिलाएं इस सिंड्रोम से पीड़ित हैं.

एम्स में एंडोक्रिनोलॉजी और मेटाबोलिज्म विभाग में एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. मोहम्मद अशरफ गनी द्वारा किया गया यह शोध जुलाई में अमेरिकन सोसाइटी ऑफ रिप्रोडक्टिव मेडिसीन जर्नल (फर्टिलिटी स्टेरिलिटी) में प्रकाशित हुआ था.

शोध में 14 से 40 वर्ष की पीसीओएस से पीड़ित दिल्ली और जम्मू-कश्मीर की 2,047 लड़कियों और महिलाओं को शामिल किया गया था.उन्होंने बताया कि इनमें से 36 फीसदी महिलाओं में डायबिटीज की आशंका या डायबिटीज पाया गया.

एक और रिसर्च के मुताबिक अगर आप भी कोल्ड ड्रिंक, कुकीज और अन्य डिब्बाबंद खाद्य पदार्थो के शौकीन हैं तो संभल जाइए, क्योंकि एक नए अध्ययन में पता चला है कि डिब्बा बंद खाद्य पदार्थो का अत्यधिक प्रयोग डायबिटीज का कारण हो सकता है. एक नए अध्ययन ने बताया है कि डिब्बाबंद खाद्य पदार्थो का सेवन डायबिटीज, हृदय रोग और अन्य स्वास्थ्य प्रभावों से जुड़े एक रसायन में वृद्धि करता है.

यह शोध अमेरिका की स्टैनफोर्ड और जॉन होपकिन्स यूनिवर्सिटीस ने मिलकर किया है. जिसमें विभिन्न आयु वर्ग, भौगोलिक और सामाजिक-आर्थिकपृष्टभूमि के हजारों प्रतिभागियों को शामिल किया गया था.

इस शोध के जरिए वैज्ञानिकों ने उपभोक्ताओं द्वारा रसायन बिसफिनॉल ए (बीपीए) के आवरण से बचने की चुनौतियों को दर्शाया है.

Check Also

जानिए यूपी में कब होगा तापमान शून्‍य से भी नीचे

यूपी में कडकडाती ठण्ड लगातार जारी है साम होते ही कोहरे का कहर जारी है. …