बेख़ौफ़ बदमाशों ने पुलिस के सामने महिलाकर्मी को मारी गोली

जासं, इलाहाबाद: बेखौफ बदमाशों ने शनिवार सुबह पुलिस के सामने ही महिला कर्मचारी शाहीन अख्तर को गोली मार दी। सिविल लाइंस के लोक सेवा आयोग चौराहे पर दिनदहाड़े हुई इस वारदात से खलबली मच गई। गोली शाहीन के दाहिने हाथ में लगी। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुरानी रंजिश में हमले की बात कही जा रही है। मामले में मालवीय नगर निवासी शकील और उसके बेटे लेखू के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज हुई है।

मुट्ठीगंज थाना क्षेत्र के मालवीय नगर में रहने वाली शाहीन (50)वर्ष, पत्‍‌नी अनुरुल वहीद लोक सेवा आयोग के करीब स्थित आइटीआइ में क्लर्क हैं। शनिवार सुबह वह दफ्तर जाने के लिए बस से लोक सेवा आयोग चौराहे पर उतरीं। सड़क पार करने लगीं तभी बाइक से आए बदमाशों ने उन्हें गोली मार दी। दाहिने हाथ में ऊपर की ओर गोली लगते ही शाहीन सड़क पर गिर पड़ीं तो हमलावर भाग निकले। वारदात से खलबली मच गई। चौराहे पर खड़े ट्रैफिक सिपाही संजय यादव ने होमगार्ड व राहगीरों की मदद से महिला को निजी अस्पताल में भर्ती कराया।

घटना की खबर मिलते ही सिविल लाइंस पुलिस मौके पर पहुंची और छानबीन की लेकिन हमलावरों का पता नहीं चल सका। कुछ देर बाद महिला को पुलिस ने स्वरूपरानी नेहरू अस्पताल में भर्ती कराया। वहां घरवाले भी पहुंच आए। इंस्पेक्टर सिविल लाइंस अरुण त्यागी का कहना है कि तहरीर के आधार पर महिला के मुहल्ले में रहने वाले पिता-पुत्र के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर तलाश की जा रही है। हमले का कारण स्पष्ट नही है, लेकिन पुरानी रंजिश बताई जा रही है। आरोपियों के पकड़े जाने के बाद स्थिति साफ हो सकेगी। जिस चौराहे पर यह घटना हुई वहां सीसीटीवी नहीं लगा है।

बीते साल भी हुआ था हमला

मार्च 2015 में भी शाहीन पर हाथी पार्क के सामने दिनदहाड़े हमला हुआ था। तब उनके चेहरे पर गोलियों के छर्रे लगे थे। शाहिन ने कर्नलगंज थाने में अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था लेकिन आरोपी नहीं पकड़े गए। हमले के बाद शाहीन ने स्कूटी से दफ्तर आना-जाना छोड़ दिया था। उनका ससुराल प्रतापगढ़ में है और पति अनुरुल एनजीओ चलाते हैं।

संतान नहीं, पति को भी छोड़ चुकी हैं

घरवालों ने पुलिस को बताया कि शाहीन के बच्चे नहीं हैं। पहले पति से तलाक होने के बाद उन्होंने अनुरुल से शादी की और फिर कुछ माह ससुराल में रहने के बाद मायके में आ गई। यहां भाई एजाज व एक बहन के साथ रहती हैं। ऐसे में पुलिस पारिवारिक और संपत्ति के विवाद के बिंदु पर भी जांच कर रही है।

Check Also

स्वामी प्रसाद मौर्य के बयान पर बोले ओमप्रकाश राजभर

स्वामी प्रसाद मौर्य के रामचरितमानस पर बयान को लेकर सभी दलों में लगातार घमासान चल …