माल्या के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी

किंग ऑफ गुड टाइम्स विजय माल्या की मुश्किल कम लेने का नाम नहीं ले रही है। फेरा कानून के उल्लंघन के आरोप में समन को नजरअंदाज करने के कारण कारोबारी विजय माल्या के खिलाफ दिल्ली की अदालत ने गैर-जमानती वारंट जारी किया है।
ब्रिटिश कंपनी बेनेट्टन फॉर्मूला लिमिटेड को दो लाख डॉलर भेजने के आरोपों के मद्देनजर प्रवर्तन निदेशालय ने दिसंबर 1995 में माल्या को नोटिस जारी किया था। अदालत ने कहा कि माल्या में देश के कानून के प्रति सम्मान की कमी है और उनका भारत लौटने का कोई इरादा नहीं है।

इसके साथ ही कोर्ट ने सख्त लहजे में कहा, माल्या का यह दावा गलत और प्रक्रिया का दुरुपयोग करने वाला है कि वह भारत लौटना चाहते हैं, लेकिन उनका पासपोर्ट निरस्त कर दिया गया है।
चेक बाउंस मामले में भी वारंट जारी
गौरतलब है कि माल्या ने विदेशों में अपने किंगफिशर ब्रांड को प्रमोट करने के लिए लंदन की इसी कंपनी से करार किया था।

माल्या ने लंदन और अन्य यूरोपीय देशों में 1996, 1997 और 1998 में होने वाली फॉर्मूला वन वर्ल्ड रेसिंग चैम्पियनशिप में किंगफिशर बीयर का लोगो प्रदर्शित करने के लिए दो लाख अमेरिकी डॉलर की राशि ट्रांसफर की थी।

इसके अलावा दिल्ली की अदालत ने 2012 में चेक बाउंस को लेकर दायर डीआईएएल की एक याचिका पर भी माल्या के खिलाफ एक और गैर जमानती वारंट जारी किया है।

Check Also

पीएम नरेंद्र मोदी की इशारों-इशारों में पाकिस्तान को चेतावनी :No Money for Terror।

राष्ट्रीय जांच एजेंसी के निर्देशक दिनकर गुप्ता जी ने कहा, आतंकी फंडिंग के लिए सोशल …