मुख्य मंत्री अखिलेश बांटेगे 2017 के टिकट :यूपी

akhileshyadav-at-ambedkar-nagar-up-indiatoday-jan-12लखनऊ. सूबे की समाजवादी सरकार में चल रही उथल पुथल के बीच मुख्यमंत्री ने सोमवार ट्विट कर यह साफ़ कर दिया है कि चुनाव में टिकट बंटवारे के अधिकार से कम उन्हें कुछ भी मंज़ूर नहीं है. सोमवार को सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह ने अपने घर पर अखिलेश यादव और शिवपाल यादव के साथ बैठक की. जिसमे विधानसभा चुनाव के लिए तैयारियों पर चर्चा हुई. सूत्रों के मुताबिक इस बैठक के बाद सभी गलतफहमियाँ दूर हो चुकी है. विधानसभा चुनाव में टिकटों का बटवारा करने के साथ अपने सभी साथी जिन्हें पार्टी से निकला गया था, उनकी वापसी के साथ महत्वपूर्ण जिम्मेदारिया भी अखिलेश दिलाएंगे.

हालिया दिनों में सपा प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव ने भी कहा है की पार्टी का मुख्यमंत्री चेहरा अखिलेश ही रहेंगे. ऐसा माना जा रहा है की इस विवाद को सुलझाने में मुलायम के गुरु  उदय प्रताप सिहं का मुख्य योगदान है. उदय प्रताप सिंह का मानना है कि अखिलेश यादव वर्तमान में पार्टी के लिए बहुत जरूरी हैं.  उनका मानना है बिना अखिलेश को सीएम कैंडीडेट बनाए सपा का अस्तित्व खतरे में है. उनके मुताबिक अखिलेश को मुख्यमंत्री चेहरा बनाए चुनाव लड़ने से पार्टी को बड़ा नुकसान पहुंच सकता है. यही वजह है कि वे किसी भी तरह नेताजी को अपने फैसला पलटने के लिए समझाने में जुटे हैं. इस काम में यादव महासभा के दूसरे पदाधिकारियों ने भी पूरा जोर लगा रखा है.

काफी लंबे समय से पार्टी में चल रहे विवाद के बीच हुई इस बैठक में सब साथ बैठ कर अपने-अपने मन की बात की. नाराज चल रहे मुलायम सिंह इस बैठक में समान्य दिखें तो शिवपाल और अखिलेश ने भी अपनी अपनी बातें खुलके राखी.

Check Also

इतिहास में दर्ज इन्दिरा गाँधी की वो अहम् बाते, जो शायद आप नहीं जानते!

देश की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी का आज 105 वी जयंती है। पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा …