मेट्रो का इंतजार हुआ ख़त्म,1 दिसम्बर को होगा ट्रायल

मेट्रो के प्रोजेक्ट में नार्थ-साउथ कॉरीडोर यानी रेडलाइन का काम तय समय से तीन महीने पहले ही पूरा हो जाएगा। मार्च 2019 में प्रस्तावित एयरपोर्ट से मुंशी पुलिया रूट की डेडलाइन घटाकर 31 दिसंबर 2018 कर दी गई है। एयरपोर्ट से मुंशी पुलिया के बीच मेट्रो की रेडलाइन एक जनवरी 2019 से संचालन के लिए तैयार हो जाएगी।

प्राथमिकता सेक्शन पर मेट्रो ट्रायल शुरू करने की तैयारी की समीक्षा करने राजधानी पहुंचे मेट्रोमैन ई श्रीधरन ने बृहस्पतिवार को नई योजना के बारे में जानकारी दी। मेट्रो भवन में मीडिया से उन्होंने कहा कि लखनऊ मेट्रो का काम काफी तेजी से पूरा हो रहा है।

प्राथमिकता सेक्शन पर ट्रायल ही हम सिर्फ दो साल दो महीने में शुरू कर पा रहे हैं। यह देश में बनी किसी भी मेट्रो से तेज है। 27 सितंबर 2014 को हमने निर्माण शुरू कराया था। मेरा आंकलन है कि हम भूमिगत रूट और उससे आगे मुंशी पुलिया तक एलीवेटेड रूट का काम भी समय से पहले पूरा कर लेंगे।

‘निर्माण के दौरान होगी मुश्किल पर मदद करें’

श्रीधरन ने कहा कि पूरी समीक्षा के बाद डेडलाइन घटाने का फैसला लिया गया है। मेट्रो का असली फायदा तभी होगा जब संचालन जल्द शुरू हो। उन्होंने यह भी कहा कि मेट्रो के निर्माण के समय लोगों को आवाजाही में कुछ समस्याएं आएंगी।

मेरी अपील है कि भविष्य की सुविधा को देखते हुए लोग निर्माण में सहयोग करें। उन्होंने केडी सिंह बाबू स्टेडियम से मुंशी पुलिया के बीच निर्माण के दौरान किसी भी तरह के ट्रैफिक डायवर्जन से इन्कार किया।

मेट्रोमैन ने देखा काम
श्रीधरन सबसे पहले मेट्रो के काम का मुआयना करने पहुंचे। इस दौरान उन्होंने डिपो में कोच के आने की जगह और ट्रेन संचालन के लिए कंट्रोल रूम की जानकारी भी ली।

डिपो में टेस्ट ट्रैक देखने के बाद प्राथमिकता सेक्शन का काम देखते हुए वह भूमिगत रूट पर पहुंचे। यहां सचिवालय पर उन्होंने टीबीएम से खुदाई के लिए बनाए जा रहे शाफ्ट का जायजा लिया। अधिकारियों को उन्होंने काम के दौरान सुरक्षा और प्रदूषण दोनों का ध्यान रखने को कहा।

एक दिसंबर से ही होगा ट्रायल

मेट्रोमैन ने कहा कि चेन्नई से कोच लखनऊ के लिए रवाना हो चुके हैं। 20 नवंबर तक यह कोच आ जाएंगे। इसके बाद एक दिसंबर से लखनऊ में ट्रायल शुरू होगा। मैं खुद ट्रायल के समय मौजूद रहूंगा। हम रेलवे संरक्षा आयुक्त की अनुमति के आड़े आने वाली कोई कमी नहीं छोड़ने वाले हैं।

जनवरी से बिकने लगेंगे स्मार्ट कार्ड
एमडी कुमार केशव ने बताया कि मार्च में कॉमर्शियल ट्रायल शुरू करने से पहले ही हम जनवरी में स्मार्ट कार्ड बेचना शुरू कर देंगे। पहले चरण में एक लाख कार्ड यात्रियों के लिए रखे जाएंगे।

किराए पर फैसला अगले महीने
लखनऊ मेट्रो के किराए पर फैसला अगले महीने तक हो जाएगा। श्रीधरन ने कहा कि हम किराया इतना रखना चाहते हैं कि यात्रियों पर बोझ न पड़े। लेकिन मेट्रो भी आर्थिक संकट में न फंसे। केंद्र सरकार के सचिव की अध्यक्षता में होने वाली एलएमआरसी की बोर्ड बैठक में जल्दी ही इस पर फैसला हो जाएगा।

 

 

Check Also

अखिलेश और शिवपाल के नजदीक होने से प्रसपा नेता बैचेन

यह समाजवादी पार्टी के उस समय के दृश्य हैं,जब पूरा परिवार “मुखिया मुलायम सिंह यादव” …