यूपी: वन मंत्री दुर्गा प्रसाद के घर में खूनी संघर्ष, 9 लोग गिरफ्तार

 

आजमगढ़. यूपी विधानसभा चुनाव 2017 होने में भले ही कुछ महीने की देरी है, लेकिन सूबे के सियासी संग्राम में खूनी संघर्ष शुरू हो गया है। खूनी संघर्ष की शुरुआत आजमगढ़ से हुई है। सूबे के केबिनेट मंत्री दुर्गा प्रसाद यादव के बेटे पूर्व ब्लाक प्रमुख विजय यादव और मंत्री के भतीजे पूर्व ब्लाक प्रमुख प्रमोद यादव एक मेले में आमने-सामने हो गए और दोनों पक्षों के समर्थकों में जमकर मारपीट और फायरिंग हुई। जिसमें मंत्री के पांच समर्थक गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। वहीं, आजमगढ़ पुलिस ने मंत्री के भतीजे प्रमोद यादव समेत 9 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

आजमगढ़ के सबसे बड़े पॉलिटिकल फैमिली वन मंत्री दुर्गा प्रसाद यादव के परिवार में सियासी महत्वाकांक्षा की फूट पड़ चुकी है। वन मंत्री के ही राजनैतिक संरक्षण में पले-बढ़े भतीजे प्रमोद यादव ने राजनैतिक महात्वकांक्षा में एक साल पहले हुए जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में सपा टिकट हासिल कर लिया। वहीं, ऐन मौके पर टिकट कट जाने से दोनों के बीच बगावत हो गई। बगावत का बिगुल अब खूनी संघर्ष में तब्दील हो चुका है।

शहर कोतवाली क्षेत्र के उकरौड़ा गांव में मेले के बाद एक दावत में देर रात गांव के एक पक्ष की तरफ भतीजा प्रमोद यादव बैठा तो दूसरी तरफ मंत्री के बेटे विजय यादव। बता दें कि ये दोनों ही पूर्व में ब्लाक प्रमुख रह चुके हैं। ऐसे में किसी बात पार अचानक दोनों पक्षों में अचानक मारपीट और फायरिंग शुरू हो गई। इस खूनी संघर्ष में मंत्री समर्थक पांच लोग गम्भीर रूप से घायल हो गये। जिनका अस्पताल में इलाज चल रहा है। पुलिस ने भतीजे प्रमोद यादव समेत 9 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। जिसको लेकर पूरे शहर में
माहौल तनावपूर्ण है।

 

Check Also

मथुरा के प्रकाश चंद्र अग्रवाल आखिर क्यों बैठे धरने पर

मथुरा के प्रकाश चंद्र अग्रवाल ने अपने एक दिन के मुख्यमंत्री बनने पर कार्यकाल के …