येरवडा : कैदी ने की खुदकुशी रेप और मर्डर के लिए मिलनी थी फांसी

पुणे – नाबालिग का यौन उत्पीड़न कर निर्मम हत्या करने के प्रकरण में फांसी की सजा होनेवाले एक कैदी ने शुक्रवार को येरवड़ा सेंट्रल जेल में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने बताया कि कैदी का नाम हाड़कसिंह उर्फ खड़कसिंह जलसिंह पांचाल (38) है। वह मूल उत्तरप्रदेश स्थित हमीपुर जिले का निवासी था। वर्ष 2013 में उसने चाकण परिसर में एक पांच वर्षीय बालक का यौन उत्पीड़न कर उसकी निर्मम हत्या कर दी थी।
– उसपर हत्या तथा बाल लैंगिक अत्याचार प्रतिबंधक कानून के तहत मामला दर्ज किया गया था। 22 मई 2013 को पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया था। तब से वह जेल में था।
– वर्ष 2011 में भी उसने इसी प्रकार के अपराध किए थे। हाल ही में 22 सिंतबर 2016 को खेड़ न्यायालय ने उसे फांसी की सजा सुनाई थी।
– जेल के सुरक्षा 1 के 14 नंबर बैरेक में उसे रखा गया था। शुक्रवार की सुबह उसने कपड़े की सहायता से फांसी लगाकर आत्महत्या की।

Check Also

गहने बेचने पर पति ने पत्नी को मौत के घाट उतारा

महाराष्ट्र के पालघर जिले में मां की तेरहवीं के लिए कान की बाली देने से …