राजबल्लभ यादव की लालू से मुलाकात पर जेडीयू ने ‘राजधर्म’ की याद दिलाई

बिहार में सत्तारूढ़ जेडीयू ने रेप के आरोपी विधायक राजबल्लभ यादव की लालू यादव के साथ हुई मुलाकात पर कड़े ततेवर अपनाए हैं. जिस तरीके से गुरुवार की सुबह बलात्कार के आरोपी राजबल्लभ यादव से लालू यादव से उनके आवास पर गुप्त मुलाकात की उस पर जनता दल यूनाइटेड ने आपत्ति दर्ज कराई है.

जनता दल यूनाइटेड ने अपनी ओर से साफ कह दिया है कि बिहार में राजबल्लभ नहीं बल्कि राजधर्म चलेगा. पार्टी प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा कि ‘गणेश परिक्रमा करने से किसी को कुछ भी मिलने वाला नहीं है. बिहार में कानून का राज है और यहां सिर्फ राजधर्म चलेगा राजबल्लभ नहीं’.

राजबल्लभ की 2 घंटे की गुप्त मुलाकात तब हुई जब ठीक 1 दिन बाद बिहार सरकार की राजबल्लभ के बेल को कैंसिल करने की याचिका पर उच्चतम न्यायालय सुनवाई करने वाला था. इस गुप्त मुलाकात पर लालू ने भी अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि उन्होंने राजबल्लभ से मुलाकात किस वजह से की वह उनके दरवाजे पर आया हुआ था.

लालू ने कहा- अगर कोई मेरे दरवाजे पर आता है तो मैं उसको कैसे भगा सकता हूं. बलात्कार के केस को लेकर या फिर सुप्रीम कोर्ट में बिहार सरकार की याचिका को लेकर राजबल्लभ से कोई बातचीत नहीं हुई’

 विपक्ष ने भी इस गुप्त मुलाकात पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि राजबल्लभ को जल्द से जल्द वापस जेल भेजा जाना चाहिए. केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने कहा कि अपराधियों को हमेशा से लालू का सपोर्ट प्राप्त है. पासवान ने कहा कि राजबल्लभ की सही जगह वापस जेल में है और हमें सुप्रीम कोर्ट पर पूरा भरोसा है वह वापस राजबल्लभ जेल भेजा जाएगा.

Check Also

आरसीपी सिंह का CM नीतीश कुमार पर हमला

पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह ने कहा कि शराबबंदी से बिहार सरकार को बड़ा नुकसान …