रेलवे का निर्माणाधीन ओवरब्रिज गिरा

जौनपुर. रेलवे का निर्माणाधीन ओवरब्रिज का पिलर गिरने से सोमवार को 3 मजदूर घायल हो गए। वहीं, एक मजदूर के मलबे में दबे होने की आशंका है। सभी घायलों को गंभीर हालत में हॉस्‍पिटल में भर्ती कराया गया है। घटना के बाद इलाके में हड़कंप मच गया है। हादसा जौनपुर के लाइन बाजार की है। बताया जा रहा है कि ब्रिज सेतु निगम करवा रहा था। घटना के बाद डीएम भानुचंद्र गोस्‍वामी ने जांच के आदेश दे दिए हैं।
घटना के बाद जेई और एई निलंबित…
-साथ ही पूरे मामले की सूचना सेतु निगम को भी भेज दिया है।
-सूत्रों की माने तो आरओबी पिलर गिरने के बाद सेतु निगम के एमडी मसर्रत नूर खान ने कार्रवाई भी कर दिया है।
-उन्होंने एई सुरेंद्र कुमार सुमन और जेई अवधेश शर्मा को निलंबित कर दिया है।
-यह ओवरब्रिज मिर्जापुर-जौनपुर मार्ग पर सिटी स्टेशन के नजदीक बन रहा था।
-जब ब्रिज का पिलर गिरा उस दौरान मजदूर काम कर रहे थे। ऐसे में तीन मजदूर गंभीर रूप से घायल हो गए।
-घायलों में गाजीपुर के रसूलपुर निवासी समसुद्दीन (48) निवासी, सोनू (32) और जंगीपुर निवासी ध्रमेंद्र (30) घायल हो गए।
-समसुद्दीन को जिला अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है, जबकि अन्‍य दोनों को वाराणसी के लिए रेफर किया गया है।
एक जुलाई तक पूरा करना था काम
-जानकारी के अनुसार, कार्यदायी संस्था को 2 जुलाई 2015 से काम करने की जिम्मेदारी दी गई थी।
-साथ ही एक जुलाई 2016 तक काम पूर्ण करने का समय निर्धारित किया था।
-लेकिन लापरवाही के चलते निर्माण कार्य गड्ढे खोदने तक ही कराया जा सका।
रेल राज्यमंत्री के दावे की खुली पोल
-दूसरी ओर, इस घटना के बाद रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा के दावे की पोल खुल गई।
-जौनपुर दौरे पर आने के दौरान उन्होंने कहा था कि रेलवे की ओर से काम सबसे पहले पूर्ण कर लिया जाएगा।
-संबंधित अधिकारियों की लापरवाही को नतीजा ये हुआ कि काम ही ठप पड़ गया।
किस विभाग को कितना करना था खर्च
-ओवरब्रिज निर्माण के लिए शासन से 4982 लाख रुपए का बजट निर्धारित किया गया था।
-इसमें 2452 लाख रुपए का कार्य सेतु निगम को कराने की जिम्मेदारी दी गई थी।
-इसके अलावा बाईपास निर्माण के लिए 1688 लाख रुपए पीडब्ल्यूडी और 787 लाख रुपए रेलवे शेष अन्य विभागों को काम कराने का बजट निर्धारित किया था।
-इस कार्य के लिए रेलवे ने कोलकाता की बीवीजे नाम की संस्था को जिम्मेदारी सौंपी थी।

Check Also

अखिलेश और शिवपाल के नजदीक होने से प्रसपा नेता बैचेन

यह समाजवादी पार्टी के उस समय के दृश्य हैं,जब पूरा परिवार “मुखिया मुलायम सिंह यादव” …