वर्जिन मैरी की मूर्ति से शहर को लगेगा जुर्माना

पेरिस। फ्रांस के एक शहर में आदेश दिए गए हैं कि सार्वजनिक रूप से पैसों की व्यवस्था कर नगर निगम की जमीन पर स्थापित की गई वर्जिन मैरी की मूर्ति को हटा दिया जाए। मजबूत कैथोलिक दल होने के बावजूद दुनियाभर में सबसे कड़े धर्मनिरपेक्ष कानून फ्रांस में हैं। यहां सार्वजनिक रूप से धार्मिक प्रतीकों को प्रदर्शित करने पर पूर तरह से पाबंदी है।

 

वर्जिन मैरी की प्रतिमा को पब्लियार के पूर्वी शहर में काफी विवाद के बाद साल 2011 में लगवाया गया था। सार्वजनिक पार्क में इसे लगाने को लेकर कौंसिल में कोई बहस नहीं हुई थी। मूर्ति को बाद में एक धार्मिक समूह ने खरीद लिया था, लेकिन यह अभी भी सार्वजनिक जगह पर लगी हुई है।

 

अब इस आदेश के आने के बाद भी प्रतिमा वहां लगी रहती है, तो शहर पर 100 यूरो प्रति दिन का जुर्माना लगाया जाएगा। Publier के मेयर गैस्टन लैक्रोइक्स ने कहा है कि वह प्रतिमा निजी भूमि में ले जाने की कोशिश करेंगे। यह फैसला एक स्थानीय प्रशासनिक न्यायालय ने दिया है, जिसकी दक्षिणपंथी नेताओं सहित फ्रंट नेशनल के जैक्स क्लोस्टरमैन ने आलोचना करते हुए इसे ‘नया अत्याचार’ करार दिया।

 

कुछ मुस्लिम महिलाओं द्वारा पहने जाने वाले नकाब और बुर्का को साल 2010 में यहां प्रतिबंधित कर दिया गया था, जो पूरे चेहरे को ढंक लेता था। इसके साथ ही फ्रांस पहला यूरोपीय देश बना गया था, जहां इस तरह के सख्त उपाय किए गए थे।

 

हाल ही में फ्रेंच रिवेरा के कुछ शहरों में महिलाओं के समुद्र तटों पर बुर्किनी पहनने पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। हालांकि, इन नियमों बाद में कोर्ट ने पलट दिया था।

 

Check Also

देश में दुर्लभ प्रजाति का सफेद गिद्ध कानपुर में मिला, लोग हैरान

देश में गिद्ध विलुप्त श्रेणी में आ गए हैं, सरकार इनके संरक्षण के लिए कई …