करियर के सुनहरे दौर से गुजर रहे हैं, विराट- सचिन तेंडुलकर का अहम योगदान

नई दिल्ली। विराट कोहली इस समय जबर्दस्त फॉर्म में है और करियर के सुनहरे दौर से गुजर रहे हैं, लेकिन बहुत कम लोग जानते होंगे कि उनकी सफलता में सचिन तेंडुलकर का अहम योगदान रहा है। कोहली ने 2014 के इंग्लैंड के निराशाजनक दौरे से लौटने के बाद 10 दिन मुंबई में सचिन के साथ अपनी बैटिंग की खामियों को दूर करने में गुजारे थे। विराट इसके बाद ही असफलता से उबरकर रन मशीन बन पाए।

images-3

2014 का इंग्लैंड दौरा विराट के लिए बहुत निराशाजनक रहा था और वे मात्र 13.40 की औसत से रन बना पाए थे। इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार इंग्लैंड से लौटने के बाद विराट ने 10 दिन मुंबई में सचिन के साथ अपनी बल्लेबाजी की खामियों को दूर करने में गुजारे थे। तेंडुलकर ने उनकी तकनीक में कुछ बदलाव किए और यह सुझाव कोहली के लिए चमत्कारिक साबित हुए थे। इसके बाद से विराट को पीछे मुड़कर नहीं देखना पड़ा।

विराट ने कहा, ‘इंग्लैंड से लौटकर जब मैं सचिन से मिला तो उन्होंने मेरी बैटिंग में कुछ तकनीकी बदलाव किए। इससे मेरा आत्मविश्वास लौटा। उन्होंने मुझे समझाया कि मैं जिस तरह स्पिनरों की गेंद पर रक्षण करता हूं, मुझे उसी विश्वास के साथ आगे लंबा कदम निकालकर तेज गेंदबाजों की गेंदों को भी डिफेंस करना चाहिए। सचिन ने मुझे समझाया कि टेस्ट के लिए मानसिक रूप से रिलेक्स रहना होगा। ‘

इसके बाद भारत की अगली सीरीज ऑस्ट्रेलिया में थी और कोहली ने इंग्लैंड की असफलता को भुलाकर धमाकेदार प्रदर्शन किया। उन्होंने चार शतक लगाए और तब से सफलता का क्रम लगातार जारी है।

कोहली इस वर्ष 9 टेस्ट मैचों में 69 की औसत से 897 रन बना चुके हैं। वे अभी तक 50 टेस्ट मैचों में 14 शतकों की मदद से 3891 रन अपने नाम कर चुके हैं।

Check Also

विराट कोहली ने क्रिस्टियानो रोनाल्डो को दी सहानभूति

एक पुर्तगाली फॉटबॉलर क्रिस्टियानो रोनाल्डो का फीफा विश्व कप जीतने का सपना आखिरकार अधूरा रह …