इस मौसम में सर्जरी कराने से ठीक होने की संभावना ज्यादा

नई दिल्ली: कई लोग मोतियाबिंद, क्रॉस आईज आदि की सर्जरी के लिए सर्दियों के मौसम का वेट करते हैं क्योंकि लोग मानते हैं कि इस मौसम में सर्जरी कराने से ठीक होने की संभावना ज्यादा होती है.

download-3

विंटर्स में सर्जरी सिर्फ एक भ्रम-

इस बारे में आई टेक विजन सेंटर की आई स्‍पेशलिस्‍ट डॉक्टर अंशिमा का कहना है कि पुराने समय में यह मान्यता थी कि विंटर्स ही मोतियाबिंद जैसी आंखों की समस्याओं की सर्जरी के लिए सबसे अच्छा समय माना जाता था. इसके पीछे यह कारण था कि पहले टेक्‍नीक उतनी एडवांस नहीं थी और जो भी सर्जरी होती थी उसमें टांके लगते थे जिसकी वजह से पसीना आंखों में जाने से उसमें इंफेक्शन होने का खतरा होता था. आज टेक्नोलॉजी इतनी एडवांस हो गई है कि सर्जरी के बाद किसी भी प्रकार के चीरे या टांके की जरूरत नहीं होती है, इसलिए सर्जरी सिर्फ विंटर्स में ही कराई जाए यह बस एक भ्रम है.

सर्जरी के लिए ना करें देर-

डॉ. आगे कहती हैं कि मैं तो ये सलाह दूंगी की आंखों में मोतियाबिन्द या कोई भी ऐसी समस्या जिसके लिए सर्जरी की जरूरत हो तो उसे किसी भी मौसम के इंतजार में टालें नहीं बल्कि जितनी जल्दी हो सके डॉक्टर द्वारा बताई गई सर्जरी करा लें.

डॉ. अंशिमा बता रही हैं कि आंखों की सर्जरी में किन बातों का ध्यान रखना जरूरी है :

आंखों की सर्जरी के लिए किसी अच्छे आईकेयर सेंटर का ही चुनाव करें.सर्जरी डॉक्टर द्वारा बताई गई हर सावधानी का पालन करें.अपनी आंखों को धूप और धुएं से बचाएं.नहाते या चेहरा धोते वक्त इस बात का खास ख्याल रखें कि साबुन आंखों में ना जाए.आँखों को ना तो मलें ना ही गंदे हाथो से

Check Also

दिग्गज अभिनेता कमल हासन की तबियत हुई खराब

दिग्गज अभिनेता कमल हासन की तबीयत खराब बताई जा रही है। 23 नवंबर को देर …