सीएनटी में संशोधन आदिवासियों के हित में होगा :रघुवर दास

जागरण संवाददाता, गुमला। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा है कि राज्य में सीएनटी- एसपीटी एक्ट में संशोधन को लेकर कई लोग अपनी राजनीति चमका रहे हैं और भोले-भाले आदिवासियों को बरगला रहे हैं। उन्होंने ऐसे लोगों को सावधान करते हुए कहा कि कोई माई का लाल सीनएटी-एसपीटी एक्ट की मूल भावना के साथ खिलवाड़ नहीं कर सकता।

आदिवासियों के हित में ही एक्ट में संशोधन होगा। राज्य का कोई भी व्यक्ति गरीब पैदा होकर गरीबी से नहीं मरे, इसी अवधारणा के साथ सरकार राज्य में विकास की गति को तेज करने का काम कर रही है। रघुवर गुरुवार को घाघरा प्रखंड के बदरी गांव में कार्तिक उरांव स्मृति जतरा समारोह में शामिल होने के बाद ग्रामीणों को संबोधित कर रहे थे।
उन्होंने कहा कि वो समय दूर नहीं जब राज्य का कोई भी व्यक्ति बेरोजगार नहीं रहेगा। इस परिकल्पना को साकार करने के लिए ही सरकार राज्य के सभी जिले में कौशल विकास केंद्र खोलेगी। इन केंद्रों में शिक्षित बेरोजगार युवक-युवतियों को अलग-अलग क्षेत्र में कौशल विकास का प्रशिक्षण देकर योग्य बनाया जाएगा ताकि वे स्वरोजगार के तहत अपनी आय में वृद्धि कर सकें।

गांवों के विकास का खाका खींचते हुए उन्होंने कहा कि चाहे वह शिक्षा का क्षेत्र हो रोजगार, सभी क्षेत्र की योजनाएं अब ग्र्रामसभा की बैठक में ही तैयार होंगी। इन तैयार योजनाओं को धरातल पर उतारा जाएगा। इसी कारण योजनाओं का केंद्र बिंदु गांव को रखते हुए सरकार विकास का नया आयाम लिखना चाहती है ताकि जब गांव समृद्ध होगा तो राज्य भी खुद समृद्ध हो जाएगा।

इस मौके पर केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री सुदर्शन भगत, विकास भारती के सचिव पद्मश्री अशोक भगत, विधायक शिव शंकर उरांव सहित कई लोग उपस्थित थे।

Check Also

पद्मभूषण से सम्मानित कौन?

धरती पुत्र मुलायम सिंह यादव जो इस संसार में नही है उनका कार्यकाल काफी लंबे …