सौतेली मां ने दो बच्चो को किया अनाथ, बेदर्दी से पति का कराया क़त्ल

भोपाल- दो बच्चों के पिता ने पत्नी के निधन के बाद दूसरी शादी की, लेकिन बच्चों के लिए वह फिल्मी सौतेली मां साबित हुई। घर के पैसे और जेवरात वह अपने मायके भेजने लगी तो पति ने टोका। इस बात से नाराज होकर पत्नी ने बेदर्दी से पति का कत्ल करवा दिया। मामला खुला तो महिला को उसके साथियों के साथ कानूनन कड़ी सजा मिली। कुछ इस तरह की है ये फिल्मी क्राइम स्टोरी…
-6 साल पुराने गोपाल गाेयल मर्डरकेस के हाईप्रोफाइल मामले में बुधवार को जस्टिस वंदना जैन ने मृतक की पत्नी सहित सास और साले को सजा सुनाई।bhopal_b_301116_dsc_0983_
– कोर्ट ने मृतक गोपाल की पत्नी नीलम गाेयल, वीरेंद्र ठाकुर, शुभम पंडित और रामस्वरूप को अाजीवन कारावास की सजा सुनाई।
– जबकि, षडयंत्र में शामिल नीलम की मां श्यामाबाई और भाई अजय उर्फ अक्कू को तीन-तीन साल के कारावास की सजा सुनाई।
– फैसला सुनने के बाद नीलम कोर्ट कैंपस में रो पड़ी जबकि, मृतक के बच्चों ने कहा कि अब जाकर हमें इंसाफ मिला।
नीलम को पत्नी के रूप में घर लाए

– सागर रोड निवासी गोपाल गोयल एक सरकारी डिपार्टमेंंट में सीनियर एकाउटेंट थे।
– गोपाल अपनी पहली पत्नी के निधन के बाद नीलम को पत्नी के रूप में घर लाए थे।
– नीलम का अपने पहले पति से तलाक हो गया था। इसलिए दोनों के बीच ये बंधन मुमकिन हो गया।
पति को था पत्नी के कैरेक्टर पर शक
– एडवोकेट केएल किरारbhopal_b_301116_dsc_3567_ ने बताया कि पत्नी नीलम की शहर के कई लोगों से दोस्ती थी।
– पति गोपाल को पत्नी के कैरेक्टर पर शक था। नीलम शहर के लोगों से रुपए लेकर अपनी मां श्यामाबाई के पास भेजती थी। इस बात से दोनों के बीच विवाद शुरु हो गया।
– नीलम ने अपने पति की हत्या की साजिश मां श्यामाबाई और भाई अजय के साथ मिलकर रची।
– गोपाल को 27 जून को हरदा के हांडिया निवासी अपनी बहन उमा के घर जाना था।
– तब प्लान के मुताबिक नीलम ने रात में 6 नींद की गोलियां आमरस में मिलाकर पिला दीं।
– बेहाेश होने पर वीरेंद्र ठाकुर, शुभम और रामस्वरूप ने गोपाल की हत्या कर दी। कार से ले जाकर लाश रायसेन जिले के सांकर गांव के कुएं में फेंक दी।
टी पर डाला था दबाव

– हत्या के बाद नीलम ने गोपाल की बेटी महक उर्फ चहक से कहा था कि सभी लोगों को बताना कि पापा घर से ढाई लाख रुपए लेकर गए थे। ताकि लोग समझें की लूट के बाद हत्या की गई है।
– महक ने ये बात अपने ताऊ विष्णु गाेयल को बताई। इसी बात से नीलम की तरफ शक की सुई घूमी।
काल डिटेल से मिली जानकारी
– केएल किरार के मुताबिक, गोपाल के बड़े भाई विष्णु गोयल ने गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी, तब 30 जून को कुएं में लाश मिलने की जानकारी मिली।
– नीलम और दूसरे लोगों ने इस मामले को लूट की घटना बनाने की कोशिश की।
– पुलिस ने जब नीलम के मोबाइल कॉल डिटेल निकाली तब कई लोगों से वारदात की रात में बात करने का खुलासा हुआ था। तब पुलिस ने सभी लोगों को गिरफ्तार किया था।
बेटी बोली, मुझे कोर्ट से मिला बर्थ-डे गिफ्ट
– गोपाल की बेटी महक दिल्ली में फैशन डिजाइनर में पीजी की पढ़ाई कर रही है।
– मंगलवार 29 नवंबर को महक ने अपना 24वां बर्थ-डे मनाया।
– महक का कहना है कि कोर्ट से मुझे बर्थ-डे गिफ्ट मिला है। पिता की मौत के जिम्मेदारों को वैसी ही सजा मिली, जैसा हम चाहते थे।
बेटे ने बताई हकीकत -फिल्मों की तरह थी सौतेली मां

– गाेपाल गोयल के बेटे गणेश ने भास्कर को बताया कि मां के निधन के बाद होशंगाबाद के सेमरी हरचंद निवासी नीलम सौतेली मां के रूप में 1996 में आई थी।
– तब मैं 6 साल का और छोटी बहन महक 3 साल की थी।
– साैतेली मां हमें पापा से कई महीनों तक बात नहीं करने देती थी। रोज प्रताड़ित करती थी।
– छोटी बहन बहुत परेशान थी। मकान में पूरा परिवार रहता था और यहां अलग-अलग मकान थे। मेरे पिता 8 भाई थे।
– सौतेली मां हमें पूरे परिवार से अलग करने की योजना शुरू से बनाने लगी थी।
– जब पिता की हत्या हुई तब मुझे योजना के मुताबिक मौसी के लड़के की शादी में दिल्ली भिजवा दिया था।
– पिता द्वारा खरीदे गए सभी सोने के आभूषण नीलम ने बेच दिए थे और घर में डुप्लीकेट बनवाकर रखे थे।
– पिता की हत्या के बाद इस बात का खुलासा हुआ।

Check Also

खंडवा में एक युवक के धर्म परिवर्तन करने का मामला आया सामने

खंडवा में बीते गुरुवार को करीब पांच महीने बाद एक युवक थाने में मस्जिद के …