स्कूटी नहीं खरीद पाया चाचा तो भतीजी ने कर दिया खौफनाक काम

जालंधर। रामा मंडी के सैनिक विहार में स्कूटी न दिलाने पर 12वीं की छात्रा ने फंदा लगाकर जान दे दी। छात्रा के चाचा ने उसे नोटबंदी के बाद हालात सामान्य होने पर स्कूटी दिलाने की बात कही थी, लेकिन जिद पर अड़ी छात्रा नहीं मानी। सुबह दरवाजा खोलते ही छात्र की लाश देख परिजनों ने पुलिस को सूचना दी। एएसआइ रविंदर सिंह ने बताया कि रामा मंडी में सैनिक विहार निवासी ताहिरा कैले (18) ढिलवां रोड पर नानक देवी स्कूल में 12वीं की छात्रा थी। बकौल रविंदर मृतका के चाचा केवल कृष्ण ने पुलिस को दिए गए बयान में बताया कि ताहिरा के पिता राकेश कैले मानसिक रूप से परेशान होने के कारण करीब 14 साल पहले घर छोड़कर कहीं चले गए थे। इसके बाद उसकी मां सुनीता ने दूसरी शादी कर ली और बच्ची को छोड़ दिया। ताहिरा की परवरिश उसके चाचा कर रहे रहे थे। केवल कृष्ण ने बताया कि पिछले कुछ दिनों से ताहिरा स्कूटी लेने की जिद कर रही थी। इस पर उन्होंने बैंकों में हालात सामान्य होने के बाद स्कूटी दिलाने का वादा किया। रविवार को भी ताहिरा ने जब जिद की तो उन्होंने काफी समझाया कि इन दिनों बैंकों में भीड़ बहुत है। एक दिन में 2000 या हफ्ते में 24 हजार ही निकाल सकते हैं। कुछ दिनों में स्थिति सामान्य होने के बाद वे स्कूटी दिला देंगे। हालांकि, इस पर वह नहीं मानी और आधा खाना बीच में छोड़कर कमरे में सोने चली गई। इधर, सोमवार सुबह जब घरवालों ने अंदर कमरे का दरवाजा खोला तो उसे पंखे के सहारे फंदे से लटकता पाया।

Check Also

मैनपुरी में उपचुनाव के चलते बंद रहेंगे एक से बारह तक की कक्षाएं

आज मैनपुरी में सीएम योगी आदित्यनाथ की जनसभा आयोजित की जाएगी। इस उपचुनाव के चलते …