स्थाई अन्तरिक्ष केंद्र की खोज के लिए चीन के वैज्ञानिक अन्तरिक्ष लैब पहुचे

बीजिंग। चीन के शेनझोऊ 11 अंतरिक्ष यान से गए दो अंतरिक्ष यात्रियों ने अपना काम शुरू कर दिया है। भारतीय समयानुसार मंगलवार रात करीब एक बजे दोनों अंतरिक्ष यात्री भारहीनता की स्थिति में तैरते हुए स्पेस लैब तियांगोंग 2 में प्रविष्ट हुए। उन्होंने मुस्कुराते हुए हाथ हिलाकर लोगों का अभिवादन किया।

अंतरिक्ष यात्रियों के स्पेस लैब में पहुंचने के महत्वपूर्ण क्षणों का चीन के सरकारी टेलीविजन पर लाइव टेलीकास्ट किया गया। शेनझोऊ 11 सोमवार को सफलतापूर्वक छोड़ा गया था। जो कुछ ही देर बाद कक्षा में स्थापित हो गया था। इसके बाद धीरे-धीरे स्पेसक्राफ्ट और स्पेस लैब के बीच का 393 किलोमीटर का अंतर खत्म किया गया, तब यात्रियों ने स्पेस लैब में प्रवेश किया।
जिंग हेपेंग और चेन डोंग नाम के दोनों अंतरिक्ष यात्री 30 दिन तक लैब में कई तरह के प्रयोग करेंगे। इन प्रयोगों में अल्ट्रासाउंड का परीक्षण, पौधे उगाने के परीक्षण भी शामिल हैं। इस सबसे सन 2022 में चीन के स्थायी स्पेस सेंटर स्थापना में मदद मिलेगी। तियागोंग 2 स्पेस लैब को इसी साल 15 सितंबर को छोड़ा गया था।

शेनझोऊ 11 चीन का छठा यान है जो मानव को लेकर अंतरिक्ष में गया है लेकिन इस बार गए मानव लंबे समय तक पहली बार रहेंगे। दोनों 33 दिन तक अंतरिक्ष में रहेंगे।

Check Also

बोनी ग्रेबियल को मिला मिस यूनिवर्स का खिताब

मिस यूनिवर्स का खिताब हर लड़की का सपना होता है इस इस खिताब को पाने …