हत्यारा आया CCTV में नजर

लखनऊ, नगर प्रतिनिधि। अपोलो डीबी सिटी में रहने वाले दंपती की हत्या में पुलिस को सोमवार को ठोस सुराग हाथ लगे। एक संदेही सीसीटीवी में नजर आया। विजिटर रजिस्टर में उसने दो पते लिखाए, जो फर्जी हैं। मोबाइल नंबर भी गलत है। एक मोबाइल अभी तक एक्टिवेट नहीं हुआ है और दूसरा भीकनगांव निवासी मिथुन का निकला। निपानिया स्थित अपोलो डीबी सिटी के ऑरम-2 ब्लॉक में रहने वाले 74 वर्षीय श्रीचंद मित्तल और उनकी पत्नी शांति देवी (70) की चाकू से गला रेत कर हत्या कर दी गई।

क्राइम ब्रांच और लसूड़िया पुलिस ने टाउनशिप के गार्ड संतोष कुमार से विजिटर रजिस्टर जब्त कर पूछताछ की तो उसमें सुरेश चौहान का नाम मिला। संतोष ने पुलिस को बताया कि सुरेश शुक्रवार और शनिवार सुबह करीब 8.30 बजे आया था। उसने सर्वहारा नगर का पता लिखवाया और कहा कि वह नर्सिंग के काम से आया है। मित्तल लकवाग्रस्त थे और व्हीलचेयर के सहारे चलते थे।

लिहाजा संतोष ने सुरेश से ज्यादा सवाल नहीं किए और दूसरी मंजिल पर भेज दिया। संतोष के मुताबिक, सुरेश करीब 9.30 बजे फ्लैट से निकल गया। इस बीच 9.15 बजे दूध लेकर आने वाला हवन सिंह भी दूध देकर गया था। पुलिस को संदेह है कि वारदात इसी दौरान होगी। पुलिस ने जब संतोष को सिर पर कपड़ा बांधे और जैकेट पहने व्यक्ति के सीसीटीवी फुटेज दिखाए तो उसने पहचान लिया।

दो दिन पूर्व ही रखा था केयर टेकर

दामाद अतुल के मुताबिक उनके सास-ससुर ने कॉल कर बताया था कि एक लड़का देखभाल के लिए आने लगा है। बिल्डिंग के रिकॉर्ड में भी उसके आने-जाने की पुष्टि हुई। उधर पुलिस ने पुराने नौकर रामकृष्णबाग निवासी संजू भाटी को पूछताछ के लिए बुलाया। उसने बताया कि 6 हजार रुपए प्रति माह पर उसने 23 अगस्त से 15 सितंबर तक काम किया था। रुपए कम पड़ने लगा तो नौकरी छोड़ कर चला गया।

दोनों बेटियां पहुंचीं, आज होगा अंतिम संस्कार

सोमवार को मित्तल दंपती के शवों का पोस्ट मार्टम हो गया। बेटी रुचिता (बेंगलुरु) और नमिता (यूएसए) से इंदौर पहुंच गई। दामाद अतुल के मुताबिक मंगलवार को अंतिम संस्कार किया जाएगा।

Check Also

खंडवा में एक युवक के धर्म परिवर्तन करने का मामला आया सामने

खंडवा में बीते गुरुवार को करीब पांच महीने बाद एक युवक थाने में मस्जिद के …