बेटी ने की शरणार्थी किशोर की मदद, हुई रेप के बाद हत्या

इंसानियत में दिल पसीजने के बाद किसी की मदद करना इतना घातक हो सकता है ऐसा किसी ने सपने में भी नहीं सोचा था। यूरोपीय यूनियन के एक अफसर की बेटी ने रिफ्यूजी कैम्प में जाकर एक किशोर की मदद क्या की मानो उसने तो अपनी मौत को ही घर बुला लिया हो।

एक अंग्रेजी अखबार के अनुसार, 19 साल की मारिया लेडेनबर्जर का शव जर्मनी की एक नदी में मिलने से सनसनी फैल गई है। पुलिस ने शक के आधार पर एक साल पहले जर्मनी पहुंचे एक शरणार्थी किशोर को गिरफ्तार किया और उससे पूछताछ की तो सनसनीखेज खुलासे हुए।

रिफ्यूजी किशोर ने मारिया का रेप करने और फिर उसकी हत्या करने की बात कबूल कर ली है। रिपोर्ट के मुताबिक, मारिया शरणार्थी कैम्पों में लोगों को राहत सामग्री पहुंचाने की एक वॉलंटियर थी। मारिया ने एक अंजान रिफ्यूजी के कैम्प में जाकर उसकी मदद किया करती थी।

पुलिस ने बताया है आरोपी युवक से पूछताछ मे पता चला है कि वह दोनों एक पार्टी में गए थे। वह पार्टी से साइकिल से लौट रहे थे तभी रास्ते में एक नदी के किनारे आरोपी ने मारिया का रेप किया और नदी में डुबोकर उसकी हत्या कर दी।

मारिया एक मेडिकल की छात्रा थी और यूरोपीय यूनियन के सलाहकार वकील डॉ क्लेमेन्स लेडेनबर्जर की बेटी थी। मारिया रिफ्यूजी कैम्पों में अपने समय बांटने के लिए वॉलंटियर भी थी। अभी तक यह साफ नहीं हुआ कि है कि मारिया का आरोपी किशोर से कोई परिचय था तो कितने दिन से था।

आरोपी युवक की पहचान अफगानिस्तान के 17 वर्षीय युवक के रूप में हुई है। पुलिस ने आरोपी को सीसीटीवी के फुटेज और मारिया के डीएनए सेम्पल के आधार पर गिरफ्तार किया था।

 

Check Also

देश में दुर्लभ प्रजाति का सफेद गिद्ध कानपुर में मिला, लोग हैरान

देश में गिद्ध विलुप्त श्रेणी में आ गए हैं, सरकार इनके संरक्षण के लिए कई …