सर्दियों में मूंगफली खाने के, 10 फायदे

सर्दी के मौसम में मूंगफली खाने का अपना ही मजा है. इसे सस्ता बादाम भी कहा जाता है. इसमें लगभग वो सारे तत्व पाए जाते हैं, जो बादाम में होते हैं.
मूंगफली में सेहत का खजाना छिपा हुआ होता है. इसमें पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है, जो शारीरिक वृद्धि के लिए बहुत जरूरी है. अगर आप किसी भी कारण से दूध नहीं पी पाते हैं तो यकीन मानिए मूंगफली का सेवन एक बेहतर विकल्प है.


वजन कम करें- मूंगफली वजन कम करने में बेहद मददगार साबित होती है. मूंगफली खाने के बाद लंबे समय तक भूख का एहसास नहीं होता है. इस कारण आप ज्यादा खाते नहीं हैं, जिस वजह से आपको वजन कम करने में आसानी होती है.
एंटीऑक्सीडेंट्स और मिनरल्स से भरपूर होने की वजह से मूंगफली स्ट्रोक और दिल संबंधी समस्याओं के खतरे को कम करती है. मूंगफली में मौजूद ट्रिप्टोफेन डिप्रेशन की समस्या को भी दूर करने में मददगार साबित होते हैं.
मूंगफली में अधिक मात्रा में फाइटोस्टेरोल मौजूद होता है, जिसे बीटा-सीटोस्टेरोल कहते हैं. ये फाइटोस्टेरोल कैंसर से सुरक्षित रखने में कारगर साबित होता है. यूएस में हुई एक स्टडी की रिपोर्ट के मुताबिक, जो महिलाएं और पुरुष कम से कम हफ्ते में 2 बार मूंगफली का सेवन करते हैं, ऐसी महिलाओं में कोलोन कैंसर होने का खतरा 58 फीसदी और पुरुषों में 27 फीसदी कम होता है.


मूंगफली में मैंगनीज के साथ-साथ मिनरल्स भी पाए जाते हैं. ये मिनरल्स फैट, कार्बोहाइड्रेट, मेटाबॉलिज्म, कैल्शियम एब्जोर्प्शन और ब्लड शुगर को रेगुलेट करते हैं. कई स्टडी की रिपोर्ट में बताया गया है कि मूंगफली के सेवन से डायबिटीज का खतरा 21 फीसदी तक कम होता है. अगर आपको डायबिटीज है तो अपने डॉक्टर की सलाह लेकर मूंगफली खा सकते हैं.

मूंगफली में भरपूर मात्रा में मोनोसैचुरेटेड और पॉलीअनसेचुरेटेड फैट्स मौजूद होते हैं. खासकर मूंगफली में पाया जाने वाला ओलिक एसिड ब्लड में बैड कोलेस्ट्रोल को कम करता है और गुड कोलेस्ट्रोल के स्तर को बढ़ाता है. ये शरीर में कोलेस्ट्रोल के स्तर को बैलेंस भी करता है और साथ ही कोरोनरी आर्टरी डिजीज से शरीर को सुरक्षित रखता है.
मूंगफली में भारी मात्रा में फोलिक एसिड मौजूद होता है, जो महिलाओं में फर्टिलिटी को बेहतर बनाता है. इसके अलावा शिशु के स्वास्थ्य को भी बेहतर करता है. अगर आप प्रेग्नेंसी के शुरुआती दिनों में है, तो आज से ही मूंगफली खाना शुरू कर दें. इससे शिशु की सेहत अच्छी बनी रहेगी.


कई स्टडी में इस बात की पुष्टि हो चुकी है कि जो महिलाएं प्रेग्नेंसी से पहले और प्रेग्नेंसी के दौरान कम से कम 400 ग्राम मूंगफली का सेवन करती हैं, उनके बच्चों में पैदाइश के समय किसी तरह की कमी नहीं होती है. इसके अलावा मूंगफली के सेवन से शिशु में अस्थमा होने का खतरा भी कम होता है.
आपको ये जानकर खुशी होगी कि मूंगफली सेहत के साथ-साथ स्किन के लिए भी बहुत फायदेमंद होती है. मूंगफली में मौजूद मोनोसैचुरेटेड एसिड स्किन को हाइड्रेट करने के साथ स्किन में ग्लो भी लाता है.
मूंगफली में विटामिन सी भी पाया जाता है, जो जुकाम और खांसी जैसी समस्याओं से सुरक्षित रखता है.

Check Also

जानिए यूपी में कब होगा तापमान शून्‍य से भी नीचे

यूपी में कडकडाती ठण्ड लगातार जारी है साम होते ही कोहरे का कहर जारी है. …