100 दिन में बेसिक षिक्षा विभाग द्वारा कराये गये कार्यों को डीएम ने गिनाया

बहराइच 07 जुलाई (आरएनएस)  जिलाधिकारी अजय दीप सिंह ने बताया कि वर्तमान प्रदेष सरकार द्वारा बच्चों को गुणवत्तापरक षिक्षा उपलब्ध कराये जाने की दिषा में निरन्तर प्रयास किया जा रहा है। जनपद में बेसिक षिक्षा परिषद द्वारा 2470 प्राथमिक तथा 983 उच्च प्राथमिक विद्यालय, 17 शासकीय सहायता प्राप्त उच्च प्राथमिक विद्यालय, 15 कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय तथा 57 सहायता प्राप्त मदरसा एवं इण्टर कालेज संचालित हैं।
उन्हांेने वर्तमान सरकार के 100 दिन के कार्यकाल के दौरान बेसिक षिक्षा विभाग द्वारा किये गये कार्यों की जानकारी देते हुए बताया कि विद्यालय में अध्ययनरत 487533 छात्र-छात्राओं के सापेक्ष 50015 छात्र-छात्राओं का आधार नामांकन कराया गया है। उन्होंने बताया कि मानव संपदा, मानव संसाधन, प्रबन्धन प्रणाली के कार्मिक विवरण में 9628 कार्मिकों का रजिस्ट्रेषन हो चुका है तथा 6016 कार्मिकों का आईडी जनरेट करते हुए डाटा फीडिंग कार्य कराया जा चुका है। शेष कार्मिक का रजिस्टेªषन व डाटा फीडिंग सम्बन्धी कार्यवाही प्रगति पर है।
जिलाधिकारी श्री सिंह ने यह भी बताया कि परिषदीय प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों के सेवानिवृत्त 107 षिक्षकों को मा. जनप्रतिनिधियों के माध्यम से जीपीएफ के धनराषि के चेक का वितरण कराया गया तथा 38 निलम्बित षिक्षकों को षिक्षण कार्य में सुधार लाने के लिए निर्देषित करते हुए निलम्बन से बहाल किया गया। इसके अतिरिक्त परिषदीय प्राथमिक विद्यालयों के निरीक्षण के दौरान पायी गयी कमियों के दृष्टिगत 08 षिक्षकों का वेतन बाधित कर स्पष्टीकरण मांगा गया तथा स्पष्टीकरण प्राप्त होने पर परीक्षोपरान्त 42 षिक्षकों को प्रतिकूल प्रविष्टि, 14 षिक्षक को कठोर चेतावनी निर्गत की गयी तथा 05 षिक्षकों की वार्षिक वेतनवृद्धि अस्थायी रूप से बाधित की गयी।
उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेष बेसिक षिक्षा परिषद के अधीन कार्यरत षिक्षक, षिक्षणेत्तर कर्मचारियों के मृत्यु के उपरान्त उनके आश्रित 06 प्रकरणों पर मृतक आश्रितों को लाभ प्रदान किया गया। 72825 प्रषिक्षु षिक्षक चयन-2011 के अन्तर्गत 21 अभ्यर्थियों को मौलिक नियुक्ति प्रदान की गयी। इसके अतिरिक्त विद्यालय स्तर पर 3521 माॅ समूहों का गठन कराया गया है, जिससे बच्चों को पौष्टिक भोजन का सत्यापन एवं उपलब्धता सुनिष्चित कराया जा सके। लोक षिक्षा केन्द्रों पर पुस्तकालय की स्थापना के लिए निदेषालय द्वारा विभिन्न पुस्तकें उपलब्ध करायी गयी जिसे वितरित कराया गया। सर्व षिक्षा अभियान के अन्तर्गत निःषुल्क पाठ्य पुस्तकों के वितरण के लिए क्रयादेष निर्गत कर प्राप्त पाठ्य पुस्तकों के सत्यापन के उपरान्त वितरण कराया जा रहा है।
जनपद में नवनियुक्त सहायक अध्यापकों के दो शैक्षिक अभिलेखों के आधार पर 775 अध्यापकों के वेतन भुगतान सम्बन्धी आदेष निर्गत किये गये हैं। नवनियुक्त 557 षिक्षकों के वेतन भुगतान के लिए सम्बन्धित बोर्ड, संस्था व विष्व विद्यालय को शैक्षिक अभिलेख सत्यापन के लिए पत्र प्रेषित किया गया। मा. उच्च न्यायालय, खण्ड पीठ लखनऊ में योजित 07 वादों का निस्तारण किया गया तथा अन्य योजित वादों में समय से प्रतिषपथ पत्र दाखिल कराये जा रहे हंै। आईजीआरएस के माध्यम से प्राप्त 27 षिकायतों तथा जनसूचना से सम्बन्धित 25 प्रकरणों का निस्तारण समयानुसार कराया गया। जनपद में कार्यरत महिला अध्यापिकाओं के मांग के अनुसार 72 प्रसूति अवकाष स्वीकृत किया गया तथा परिवार नियोजन भत्ता 12 षिक्षकों के स्वीकृत किये गये व चयन वेतनमान 08 अध्यापकों के स्वीकृत किये गये। जनपद में कार्यरत अध्यापकों के विरूद्ध प्राप्त षिकायतों के आधार पर 07 अध्यापकों को सेवा समाप्ति नोटिस निर्गत किया गया।
बाल्य देखभाल अवकाष सम्बन्धी प्राप्त 25 प्रार्थना-पत्रों का निस्तारण किया गया। साक्षर भारत मिषन के अन्तर्गत साक्षरता परीक्षा का आयोजन जनपद बहराइच में कराया गया, जिससे 45996 परीक्षार्थियों द्वारा प्रतिभाग किया गया तथा पूर्व में अयोजित साक्षरता परीक्षा के प्रमाण-पत्रों का वितरण भी किया गया। समस्त साक्षरता कर्मियों के आधार कार्ड की सूचना निदेषालय को प्रेषित की गयी। साक्षर भारत मिषन के अन्तर्गत प्रेरकों के प्रषिक्षण एवं कार्यषाला का आयोजन प्रतिमाह कराया जा रहा है। मध्यान्ह भोजन के अन्तर्गत वर्ष 2017-18 के लिए रसोईयां चयन की कार्यवाही पूर्ण करा ली गयी है। 01 जुलाई 2017 से मध्यान्ह भोजन योजना के अन्तर्गत बच्चों को गुणवत्तायुक्त भोजन उपलब्ध कराये जाने सम्बन्धी कार्यवाही की जा चुकी है।

Check Also

मथुरा के प्रकाश चंद्र अग्रवाल आखिर क्यों बैठे धरने पर

मथुरा के प्रकाश चंद्र अग्रवाल ने अपने एक दिन के मुख्यमंत्री बनने पर कार्यकाल के …