108 एम्बुलेन्स सेवा कर्मी भी अब कर रहे अवैध वसूली

उन्नाव,बागंरमऊ,। प्रदेश सरकार भले ही बेहतर स्वास्थ्य के लिए बडी बडी जनकल्याण कारी योजनाए चलाकर अपनी पीठ थप थपा रही हो लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही बयां कर रही है।स्वास्थ्य विभाग की बदहाली की असलियत बांगरमऊ स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में देखने को मिल रही है जहां पर प्रसव के नाम पर और मरीजो को लाने ले जाने वाली 108 एम्बूलेसं से हो रही अवैध वसूली इसका बडा उदाहरण।क्षेत्र के सुशील,नन्हे,रजींत,राम विलास,सहित दर्जनो लोगो की माने तो स्वास्थ्य केन्द्र पर प्रसव के नाम पर 500रू से 600रू तक की अवैध वसूली की जाती है और इसी के साथ सैकडो रू0 की दवा भी बाहर से लिखी जाती है जिसका खामियाजा ग्रामीण स्तर का मरीज और उनके तीमार दार भुगत रहे है। मामला यहीं तक ही नही रूकता है।ग्रामीणो स्तर के मरीजो के तीमार दारो की शिकायत है कि मरीज लाने और ले जाने के नाम पर 108 एम्बेलेन्स सेवा में तैनात कर्मी अवैध रूप से सैकडो रू मरीजो के तीमारदारो से बसूल करते है जबकि 108एम्बुलेन्स सेवाए निःशुल्क सपा सरकार के तत्कालीन मुख्य मंत्री अखिलेश यादव व्दारा चलवाइ गइ थी जिनका लाभ निःशुल्क आम जनमानस को मिल रहा था, लेकिन सरकार बदलते ही 108 एम्बुलेन्स सेवा के कर्मी अपनी मनमानी के चलते मरीजो के तीमारदारो से अवैध वसूली करने में मसगूल हो गए है जिन पर जिला प्रशासन व्दारा कोइ कार्यवाही नहीं की जा रही है।क्षेत्रीय लोगो की माने तो इसी स्वास्थ्य केन्द्र पर कइ बार प्रसव के नाम पर व एम्बुलेन्स सेवा के नाम पर मरीजो के तीमार दारो से की जाने वाली अवैध वसूली को लेकर विवाद भी हो चुके है लेकिन फिर भी प्रशासन के आंख और कान बन्द है। स्वास्थ्य केन्द्र पर हो रही अवैध वसूली से आम जनता परेशान है लेकिन उनके सामने मजबूरी है कि अपने मरीज को अस्पताल तक ले जाने के लिए कोइ न कोइ साधन तो होना चाहिए जिसके लिए उनको इससे अधिक किराया चुकाना पडेगा लेकिन अपनी समस्या से निजात पाने के लिए 108 एम्बुलेन्स सेवा में कुछ ही पैसो मेे उनका मरीज अस्पताल तक पहुंच जाता है।

Check Also

जयंत ने बीजेपी को दिया, जोर का झटका धीरे से !

2024 के लोकसभा चुनाव से पहले,राष्ट्रीय राजनीति में मानो एक सैलाब सा ला दिया हो …