1500 बच्चों की सवा चार घंटे जान पे आफत , स्कुल में तेदुआ

रायवाला, [देहरादून]: राजाजी नेशनल पार्क से सटे मिलिट्री परिसर स्थित केंद्रीय विद्यालय रायवाला में आ धमके तेंदुए ने करीब सवा चार घंटे तक 1500 विद्यार्थियों की सांसें अटकाए रखीं। भय के चलते कक्षाएं बंद कमरों में संचालित की गईं। सुरक्षा के मद्देनजर मध्यांतर में भी बच्चों को बाहर नहीं आने दिया गया। विद्यालय प्रशासन ने तेंदुए को पकड़ने के लिए पिंजरा लगाने का आग्रह किया है।
छावनी क्षेत्र रायवाला इन दिनों तेंदुए के खौफ से सहमा हुआ है। दो हफ्ते से आबादी वाले इलाकों में तेंदुए के दिखाई पड़ने से दहशत और गहरा गई है। गत सुबह तब सांसें अटक गईं, जब तेंदुआ केंद्रीय विद्यालय परिसर में आ धमका।
पढ़ें-कमरे में तेंदुए को देख ग्रामीण के उड़े होश, ऐसा किया उपाय
विद्यालय में कक्षाएं शुरू होने के एक घंटे बाद करीब साढ़े नौ बजे जब विद्यालय कर्मियों की नजर गुलदार पर पड़ी तो उन्होंने तत्काल इसकी सूचना विद्यालय प्रशासन को दी। अफरा तफरी के बीच सभी कक्षाओं के कमरे बंद कर दिए गए और किसी भी विद्यार्थी को बाहर न आने की हिदायत दी गई।
पढ़ें: कालोनी में घूम रहा तेंदुआ सीसीटीवी में हुआ कैद
बताते हैं कि सैन्य कर्मियों ने गुलदार को भगाने के लिए हवा में फायर भी किया, मगर सेना की तरफ से इसकी पुष्टि नहीं की गई। तेंदुए के खौफ को देखते हुए विद्यालय में कक्षाएं बंद कमरों में ही चली। इस बीच तेंदुआ जंगल की ओर भाग निकला। पौने दो बजे छुट्टी होने के बाद ही बच्चों, अभिभावकों और विद्यालय स्टाफ ने चैन की सांस ली।
हालांकि, विद्यालय प्रशासन की ओर से इस सिलसिले में तुरंत ही पार्क प्रशासन को सूचना दे दी गई थी, मगर उसका कोई नुमाइंदा मौके पर नहीं पहुंचा। वहीं, विद्यालय की ओर पार्क प्रशासन को पत्र भेजा गया है, जिसमें तेंदुए को पकड़ने के लिए विद्यालय के आसपास पिंजरा लगाने की मांग की गई है।
पढ़ें:-उत्तरकाशी में तेंदुए ने गाय को बनाया निवाला
उधर, रेंज अधिकारी महेंद्र गिरि गोस्वामी ने बताया कि विद्यालय में तेंदुए के धमकने की सूचना मिली थी, मगर यह तुरंत ही वहां निकल भी गया। फिर सुबह सभी स्टाफ अन्यत्र व्यस्त था। उन्होंने बताया कि ऐहतियात के तौर पर शाम से इस क्षेत्र में सशस्त्र वनकर्मियों की गश्त शुरू कर दी गई है। साथ ही पिंजरा लगाने की अनुमति देने के लिए उच्चाधिकारियों को पत्र लिखा जा रहा है।
लाठी लेकर बच्चों को स्कूल छोड़ रहे अभिभावक
क्षेत्र में सक्रिय तेंदुए के खौफ का आलम ये है कि अभिभावक बच्चों को स्कूल भेजने में कतरा रहे हैं। भय का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि अभिभावक लाठी-डंडे लेकर समूह में बच्चों को स्कूल छोड़ने और ले जाने को मजबूर हैं। क्षेत्रवासियों ने राजाजी पार्क प्रशासन से मांग की है कि तेंदुए के आतंक से छुटकारा दिलाने को तुरंत प्रभावी कदम उठाए जाएं।

Check Also

मैने शुरू किया टी10 -टी20 क्रिकेट : राम रहीम

डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख राम रहीम ने दावा किया है कि टी10 और टी20 …