बड़े हादसे को दावत देती, ये टूटी रेल पटरी

पिछले रविवार को कानपुर देहात के पुखरायां में हुए भीषण रेल हादसे से रेलवे ने कोई सबक नहीं लिया है. वाराणसी के सारनाथ स्टेशन के पास टूटे ट्रैक से कई ट्रेनें गुजर रही हैं.
प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार 20 दिनों से टूटी पटरी से होकर ट्रेनें गुजर रही हैं रेलवे के अधिकारी आंखें मूंदे बैठे हैं. बता दें इस ट्रैक पर राजधानी समेत कई ट्रेनों का परिचालन होता है.
दरअसल यहां चीक लाइन टूटी है. यह सपोर्टिव लाइन होती है, जो क्रासिंग, झुकाव वाली टर्निंग और पटरी बदलते समय पहियो को सपोर्ट देने के लिए लगाई जाती है.                                                                                                             sarnath-varanasi
रेलवे के ट्रैक इंजीनियरिंग विभाग का कहना है कि इससे हादसे की सम्भावना कम होती है लेकिन अगर स्पीड ज्यादा हो तो ट्रेन डीरेल हो सकती है.
वहीं जब इस बारे में स्टेशन मास्टर राजेश कुमार से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि ईटीवी के
माध्यम से इसकी जानकारी मिली है. इसकी सूचना इंजीनियरिंग विभाग को दे दी गई है. उनका भी मानना है कि इससे हादसे की सम्भावना होती है.
बताते चलें कि पुखरायां में इंदौर पटना एक्सप्रेस के 14 डिब्बे डीरेल हो गए थे. इस हादसे में 150 यात्रियों की मौत हुई थे जबकि सैकड़ों अन्य घायल हुए हैं.

Check Also

जानिए यूपी में कब होगा तापमान शून्‍य से भी नीचे

यूपी में कडकडाती ठण्ड लगातार जारी है साम होते ही कोहरे का कहर जारी है. …