370 एक्सपर्ट्स बोले- ट्रम्प को इकोनॉमिक्स की समझ नहीं

वाशिंगटन. यूएस प्रेसिडेंशियल इलेक्शन में 6 दिन बाकी हैं। भारतीय वक्त से 9 अक्टूबर (अमेरिका में 8 अक्टूबर) को वोटिंग होनी है। इससे पहले अमेरिका के 370 इकोनॉमिस्ट ने लोगों से रिपब्लिकन कैंडिडेट डोनाल्ड ट्रम्प को वोट न देने की अपील की है। इनमें से ज्यादातर इकोनॉमिस्ट प्रोफेसर हैं। कई नोबेल प्राइज विनर हैं। इन्होंने एक बयान में कहा है कि ट्रम्प को इकोनॉमिक्स की कोई जानकारी नहीं है। वह भरोसेमंद एक्सपर्ट्स को सुनना भी नहीं चाहते।
यह नहीं बताया किसे वोट दें…
– इकोनॉमिक्स के सभी 370 एक्सपर्ट्स ने यह भी नहीं कहा कि डेमोक्रेट कैंडिडेट हिलेरी क्लिंटन को वोट दिया जाए। उन्होंने सिर्फ इतना कहा कि ट्रम्प के सपोर्टर किसी और को वोट दें।
– इकोनॉमिस्ट्स का तर्क है कि ट्रम्प ने दूसरे देशों के साथ ट्रेड, मैन्युफैक्चरिंग, इमिग्रेशन और गवर्नमेंट इंस्टीट्युशंस को लेकर लोगों को गुमराह किया है।
– ट्रम्प इलेक्शन कैम्पेन में मैक्सिको और चीन से इम्पोर्ट पर एक्स्ट्रा टैक्स लगाने की बात कही है। नाफ्टा जैसे फ्री ट्रेड एग्रीमेंट को भी खत्म करने की बात कह चुके हैं।
– ट्रम्प ने यह भी कहा था कि अमेरिका में गैर कानूनी तरीके से रह रहे मजदूरों को बाहर कर देंगे।
– इकोनॉमिस्ट्स का कहना है कि इससे जॉब मार्केट घट जाएगा और ग्रोथ रेट भी कम हो जाएगी।
हिलेरी को भी क्रिटिसाइज कर चुके एक्सपर्ट्स
– सितंबर में 300 से ज्यादा इकोनॉमिस्ट्स ने एक लेटर जारी करते हुए कहा था कि क्लिंटन की इकोनॉमी को लेकर पॉलिसीज देश के लिए अच्छी नहीं होंगी।
– उन्होंने हिलेरी की पेट्रोल-डीजल के खिलाफ एनर्जी पॉलिसी, टैक्स प्लानिंग और मिनिमम वेजेज बढ़ाने के प्रपोजल का विरोध किया था।
– इकोनॉमिस्ट्स के मुताबिक इससे इकोनॉमी में सुस्ती आ जाएगी। फिर भी ऑक्सफोर्ड इकोनॉमिक्स, मूडीज एनालिटिक्स और व्हार्टन स्कूल ने हिलेरी के मॉडल को बेहतर माना।

Check Also

वीआर हेडसेट न खरीद के देने पर 10 साल के बच्चे ने की मां कि हत्या

अमेरिका से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। जहां एक 10 साल …