41 साल बाद हुआ हेमा मालिनी का खुलासा, आखिर क्यों नहीं रहती थी हेमा धर्मेंद्र के घर

एंटरटेनमेंट डेस्क। बॉलीवुड अभिनेत्री  हेमा मालिनी और धर्मेंद्र की शादी को 40 साल से ज्यादा का वक्त हो गया है। लेकिन उनकी मानें तो शादी के बाद धर्मेंद्र ने उन्हें ज्यादा वक्त नहीं दिया है। शुक्रवार को 72 साल की हुईं हेमा ने एक इंटरव्यू में यह दावा किया। उनसे पूछा गया था कि क्या वे अपनी जिंदगी की किसी चीज को बदलना चाहती हैं?

स्पॉटबॉय से बातचीत में हेमा ने कहा, “मुझे नहीं लगता कि मैं किसी चीज को बदलना चाहती हूं। मुझे धरमजी के साथ बिताने के लिए ज्यादा समय नहीं मिला। लेकिन ठीक है। हमने जो भी समय साथ बिताया, वह बेशकीमती था। हम ‘ये क्यों नहीं किया?’, ‘वो क्यों नहीं किया?’, ‘आपको देरी क्यों हुई?’ जैसी बातों में नहीं फंसे। मैंने अपना वक्त अपने प्यार से शिकायत करने में बर्बाद नहीं किया।”

हेमा मालिनी और धर्मेंद्र की शादी 21 अगस्त 1979 को हुई थी। बताया जाता है कि दोनों की पहली मुलाकात ख्वाजा अहमद अब्बास की फिल्म ‘आसमान महल’ के प्रीमियर पर 1965 में हुई थी। हालांकि, उनका प्यार फिल्म ‘शोले’ की शूटिंग के दौरान परवान चढ़ा था। हेमा धर्मेंद्र की दूसरी पत्नी हैं। उनकी पहली पत्नी प्रकाश कौर हैं, जो सनी देओल और बॉबी देओल की मां हैं।

हेमा मालिनी 72 साल की हो गई हैं। वे 16 अक्टूबर 1948 अम्मंकुदी तमिलनाडु में पैदा हुई थीं। हेमा ने धर्मेंद्र से दूसरी शादी की थी, लेकिन शादी के बाद हेमा कभी धर्मेंद्र के घर नहीं गईं। उनकी ओर से धर्मेंद्र के घर जाने वाली इकलौती मेंबर उनकी बेटी ईशा हैं, जो अपने जन्म के 34 साल बाद वहां जा पाई थीं। इस बात का जिक्र राम कमल मुखर्जी की बुक ‘हेमा मालिनी : बेयॉन्ड द ड्रीम गर्ल’ में किया गया है।

जब धर्मेंद्र के भाई और अभय देओल के पिता अजीत सिंह देओल बहुत ज्यादा बीमार थे। वो बिस्तर पर थे और ईशा अपने चाचा को देखना चाहती थीं। बुक में ईशा के हवाले से लिखा है- मैं चाचा से मिलना चाहती थी और अपनी तरफ से सम्मान देना चाहती थी। वो मुझे और अहाना को बहुत चाहते थे और हम भी अभय के बेहद क्लोज थे।”

ईशा ने आगे कहा, “हमारे पास उनके घर जाने के अलावा कोई रास्ता नहीं था। वो अस्पताल में भी नहीं थे कि हम उनसे वहां मिलकर आ जाते। इसलिए मैंने सनी (देओल) भैया को फोन किया और उन्होंने उनसे मिलने की पूरी व्यवस्था करा दी थी।”

स्पॉटबॉय से बातचीत में हेमा ने कहा, “मुझे नहीं लगता कि मैं किसी चीज को बदलना चाहती हूं। मुझे धरमजी के साथ बिताने के लिए ज्यादा समय नहीं मिला। लेकिन ठीक है। हमने जो भी समय साथ बिताया, वह बेशकीमती था। हम ‘ये क्यों नहीं किया?’, ‘वो क्यों नहीं किया?’, ‘आपको देरी क्यों हुई?’ जैसी बातों में नहीं फंसे। मैंने अपना वक्त अपने प्यार से शिकायत करने में बर्बाद नहीं किया।”

हेमा ने एक इंटरव्यू में कहा था- भले ही मैं कभी प्रकाश के बारे में बात नहीं करती, लेकिन मैं उनका बहुत सम्मान करती हूं। मेरी बेटियां भी धरम जी की फैमिली का पूरा सम्मान करती हैं। दुनिया मेरी लाइफ के बारे में विस्तार से जानना चाहती है। लेकिन यह दूसरों को बताने के लिए नहीं है। इससे किसी को मतलब नहीं होना चाहिए।

जब हेमा मालिनी उनके घर पहुंची तो वह पे तमिल वेंडिंग चल रही हैं। हेमा ने बुक में बताया है- केवल कृष्ण सिंह देओल अक्सर चाय पर पिता और भाई से मिला करते थे। इस दौरान वे पंजे भी लड़ाया करते थे और उन्हें (हेमा के पिता और भाई को) हराने के बाद मजाक करते हुए कहते थे, तुम लोग घी मक्खन लस्सी खाओ। इडली और सांभर से ताकत नहीं आती। इसके बाद वे खूब हंसते थे।

हेमा की बुक में धर्मेंद्र की मां सतवंत कौर के साथ उनके रिश्ते का जिक्र भी किया गया है। हेमा के मुताबिक- धरम जी की मां सतवंत कौर बहुत ही अच्छी महिला थीं। मुझे याद है कि एक बार वे मुझसे मिलने जुहू के एक डबिंग स्टूडियो में आई थीं। उस वक्त मैंने ईशा को कंसीव किया था। उन्होंने घर में किसी को नहीं बताया था। मैंने उनके पैर छुए और उन्होंने कहा- बेटा खुश रहो हमेशा। मुझे यह देखकर बहुत खुशी हुई थी।

 

 

Check Also

पठान ने मचाया बॉक्स ऑफिस पर धमाल

पठान फायर है फायर…पठान ने आते ही बॉक्स ऑफिस पर आग लगा दी है. हर …