65 शहीदों की पत्नियों को सम्मानित किया गया

रानीखेत, अल्मोड़ा कुमाऊं रेजिमेंट के पूर्व सैनिक सम्मेलन में 65 शहीद सैनिकों की पत्नियों की सम्मानित किया गया। इसके साथ ही छह को आर्थिक सहायता भी प्रदान की गई। भारतीय सेना के नरसिंह मैदान में केआरसी के पूर्व सैनिक सम्मेलन का शुभारंभ वीर नारी शांति देवी, डिप्टी कमांडेंट कर्नल नवदीप दहिया तथा अवकाश प्राप्त डिप्टी कमांडेंट एडी सेमवाल ने दीप जलाकर संयुक्त रूप से किया। पढ़ें-शहीद संदीप रावत को नम आंखों से दी गई अंतिम विदाई मुख्य अतिथि डिप्टी कमांडेंट कर्नल नवदीप दहिया ने इस मौके पर कहा कि फौजी कभी रिटायर नहीं होता। इसलिए मौजूदा व भूतपूर्व सैनिक मिल कर राष्ट्र निर्माण में अहम भूमिका निभाएं। उन्होंने वीर नारियों व पूर्व सैनिकों को भारतीय सेना का अभिन्न अंग बताया। पढ़ें: उत्तराखंड में युवाओं के लिए सुनहरा मौका, भारतीय सेना में भर्ती अगले महीने से शुरू उन्होंने चाणक्य के कथन का हवाला देते हुए कहा कि सामाजिक विकास के लिए समाज के सभी वर्गों का कदम से कदम मिला कर चलना बेहद जरूरी है। एक सैनिक इन सब में सर्वोपरि होता है। क्योंकि वह हड्डी जला देने वाली ठंड और बदन जलाने वाली गर्मी आदि तमाम चुनौतियों के बीच सीमा पर अडिग रह कर देश व नागरिकों की सुरक्षा का भार उठाए मुस्तैद रहता है।

Check Also

मैने शुरू किया टी10 -टी20 क्रिकेट : राम रहीम

डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख राम रहीम ने दावा किया है कि टी10 और टी20 …