कश्मीर से कन्याकुमारी तक का सफर तय करेगी 8 साल की रावी

पटियाला की रहने वाली 8 साल की बच्ची रावी एक और नया वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने निकल पड़ी है। एक वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने के बाद अब रावी ने कश्मीर से कन्याकुमारी तक साइकिल से सफर कर विश्व रिकॉर्ड बनाने की तरफ कदम बढ़ा लिया है। रावी अपने पिता को इस महत्वपूर्ण यात्रा में अपनी प्रेरणा मानती है। पिता सिमरनजीत सिंहके प्रोत्साहन पर रावी गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स बनाने के लिए लगभग 3000 किलोमीटर तक साइकिल चलाएगी।

आठ साल की नन्हीं सी रावी साइक्लिंग में कई किलोमीटर की दूरी तय करके गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड्स में अपना नाम पहले ही दर्ज करवा चुकी है। लेकिन वहीं अब ये बच्ची कश्मीर से कन्याकुमारी तक का सफर साइकिल पर तय कर रही है. अपनी साइकल यात्रा के दौरान बीते दिनों अंबाला पहुंची रावी ने मीडिया से बात की. रावी ने बताया कि उसकी हिम्मत और इस कामयाबी के पीछे उसके पिता का हाथ है. तमाम मुश्किलों के बावजूद रावी साइकिल यात्रा का यह कीर्तिमान बनाना चाहती है. उसने बताया कि रास्ते में कई बार चोट लगी, लेकिन वह डगमगाई नहीं।

रावी के पिता सिमरनजीत सिंह का कहना है कि पिछले लगभग चार साल से उनकी बेटी साइक्लिंग कर रही है. सिमरनजीत ने कहा कि वे सभी माता-पिता से यह कहना चाहते हैं कि अपने बच्चों को स्पोर्ट्स की तरफ जरूर भेजें. आपके बच्चे जो करना चाहते हैं, उनका खुलकर सपोर्ट करें. गौरतलब है कि खेल के क्षेत्र में बीते कुछ वर्षें में भारतीय खिलाड़ियों ने खासा दम दिखाया है. टोक्यो ओलिंपिक में नीरज चोपड़ा स्वर्ण पदक विजेता रहे तो कुश्ती, वेटलिफ्टिंग, बॉक्सिंग, बैडिमंटन, हॉकी में भी भारतीय खिलाड़ियों ने मेडल की चमक हासिल की है।

Check Also

रूम हीटर के नुकसान

पूरे उत्तर भारत में सर्दी का आलम बना हुआ है। ऐसे में कई लोग अलाव …