बीजेपी के नेताओं ने लगाया आरोप, कहा पीएम मोदी के दौरे के दौरान हुई सुरक्षा में चूक

बीजेपी के नेताओं का कहना है कि केंद्रीय एजेंसियों के कहने के बाद पुलिस विभाग ने सभी पुलिस थानों को सर्कुलर जारी कर से सुरक्षा उपकरणों की रिपोर्ट की मांगी गई थी। जो की प्रधानमन्त्री के दौरे से पहले किया जाना चाहिए था।एआईएडीएमके ने अभी हाल ही में तमिलनाडु में बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर राज्यपाल से मुलाकात की थी। अब बीजेपी के नेताओं ने पीएम मोदी के दौरे को लेकर राज्य सरकार डीएमके पर आरोप लगाए हैं। बीजेपी के तमिलनाडु प्रमुख अन्नामलाई का आरोप है कि जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जुलाई में तमिलनाडु का दौरा किया था उस दौरान पुलिस से सुरक्षा में चूक हुई थी। पार्टी ने इसे लेकर मंगलवार 29 नवंबर को राज्यपाल आरएन रवि से मुलाकात की और उनसे डीएमके के नेतृत्व वाली राज्य सरकार को जांच का आदेश देने का निर्देश देने की अपील की है।
बीजेपी का कहना है कि मामले की जांच कर दोषी पाए गए लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए। आरोप लगाया कि डीएमके के नेतृत्व वाली सरकार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को परेशान किया। शतरंज ओलंपियाड का उद्घाटन करने के लिए 29 जुलाई को चेन्नई की अपनी यात्रा के दौरान उनकी सुरक्षा में चूक हुई। बीजेपी ने राज्यपाल से कहा कि यह कार्यक्रम तमिलनाडु जैसे अत्यधिक संवेदनशील राज्य में कई गणमान्य व्यक्तियों की उपस्थिति में आयोजित किया गया था और अतिरिक्त सुरक्षा उपायों की जरूरत थी खासकर जब देश के प्रधानमंत्री यात्रा कर रहे थे।
बीजेपी का दावा है कि हाथ से पकड़े जाने वाले अधिकांश मेटल डिटेक्टर, डोर फ्रेम मेटल डिटेक्टर और बम डिटेक्टर जो सुरक्षा व्यवस्था में इस्तेमाल किए गए थे वे क्रम में नहीं थे। रखरखाव में भी कई चीजों की अनदेखी की गई थी। पार्टी ने सुरक्षा उपकरणों की लिस्ट पर एक ऑडिट कराने का भी अनुरोध किया है। उनका आरोप है कि इस दौरान सुरक्षा उपकरणों से समझौता किया गया है। इस तरह से राज्य में देश के प्रधानमंत्री की सुरक्षा को जोखिम में डाला गया था। उनकी यात्रा के बाद केंद्रीय एजेंसियों ने भी खामियों की ओर इशारा किया था। बीजेपी का कहना है कि केंद्रीय एजेंसियों के कहने के बाद पुलिस विभाग ने सभी पुलिस थानों को सर्कुलर जारी कर सभी सुरक्षा उपकरणों की स्थिति रिपोर्ट की मांग की जो पीएम के दौरे से पहले किया जाना चाहिए था। बीजेपी का आरोप है कि दौरे से पहले खुफिया इनपुट पर ध्यान नहीं दिया गया। सत्ता में डीएमके सरकार अपने राजनीतिक स्कोर को व्यवस्थित करने के लिए राज्य खुफिया विभाग का इस्तेमाल कर रही है।

Check Also

सोशल मीडिया पर हुआ मोटिवेट कर देने वाला वीडियो वायरल

सोशल मीडिया पर अक्सर अजीबो गरीब वीडियो देखने को मिल जाते है लेकिन इस बार …