आतंकी हमले के बाद भी श्रद्धालुओं ने कहा, हर हर महादेव और हुए रवाना

आतंकी हमले के बाद भी आस्था का सैलाब उमड़ा, हर-हर महादेव…के जयकारे के साथ रवाना हुआ जत्था
श्रीनगर,  दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग में सोमवार रात हुए आतंकी हमले में सात श्रद्धालुओं की मौत हो गई है। अमरनाथ यात्रा रोकने के इरादे से निहत्थे श्रद्धालुओं पर गोलियां बरसाने वाले आतंकवादियों को शिव भक्तों ने मंगलवार सुबह करारा जवाब दिया। मंगलवार सुबह 3 बजे जम्मू से पहलगाम और बालटाल के लिए अमरनाथ यात्रा के लिए जत्था रवाना हुआ। श्रीनगर में हुए हमले के बाद कड़ी सुरक्षा के बीच जत्था रवाना किया गया। भोले बाबा के दर्शन को लेकर श्रद्धालुओं में उत्साह देखने को मिला। शिव के भक्त जोश के साथ हर-हर महादेव…, बम भोले जैसे जयकारे लगाते हुए बाबा बर्फानी के दर्शन के लिए आगे बढ़ गए। इससे पहले अनंतनाग के बटेंगू में सोमवार रात आतंकियों ने अमरनाथ श्रद्धालुओं और सुरक्षाबलों के काफिले पर हमला किया। अधाधुंध गोलीबारी में बस में सवार सात श्रद्धालुओं की मौत हो गई, जबकि 12 श्रद्धालु व पांच पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। हमले के बाद मोटरसाइकिल सवार आतंकी भाग निकले। पूरे इलाके में अलर्ट घोषित करते हुए श्रीनगर से जवाहर सुरंग तक राष्ट्रीय राजमार्ग पर वाहनों की आवाजाही रोक दी गई है।बस में सभी श्रद्धालु गुजरात के हिम्मतनगर के बताए गए हैं। मृतकों में पांच महिलाएं और दो पुरुष श्रद्धालु शामिल हैं। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने हमले की कड़ी निंदा की है। आतंकियों ने बटेंगू में गुजर रही पुलिस की बख्तरबंद गाड़ी पर रात आठ बजे हमला किया। जवानों की जवाबी कार्रवाई के बाद आतंकी वहां से खन्नााबल की तरफ भागे। उन्होंने रास्ते में एक पुलिस नाके पर गोलीबारी की। इसमें पांच पुलिसकर्मी जख्मी हो गए। अन्य कर्मियों ने मोर्चा संभालते हुए जवाबी कार्रवाई की।आतंकी वहां से गोलीबारी करते हुए भागने लगे। इस दौरान बालटाल से जम्मू आ रही श्रद्धालुओं की बस को भी आतंकियों ने निशाना बनाया। किसी को भी संभलने का मौका नहीं मिला। बस में सवार दो महिला श्रद्धालुओं की मौके पर ही मौत हो गई। बाकी ने अस्पताल में दम तोड़ा। जिस बस पर यह हमला हुआ वह जत्थे का हिस्सा नहीं थी। इस बस के साथ कितनी सुरक्षा व्यवस्था थी, इसकी भी जांच की जा रही है। आईजी कश्मीर मुनीर अहमद खान ने कहा कि आतंकियों का निशाना यात्री बस नहीं थी। उन्होंने वहां से गुजर रहे पुलिस वाहन पर हमला किया था। इसी दौरान बस भी गोलीबारी की चपेट में आ गई। पांच पुलिसकर्मियों समेत 17 जख्मी लोगों को पास के अस्पताल में भर्ती करवाया है। उनकी हालत गंभीर बताई गई है। एहतियात के तौर पर जम्मू-श्रीनगर हाईवे को बंद कर दिया है। सूत्रों के अनुसार बाइक पर तीन आतंकी सवार थे। इनमें से एक की पहचान इस्माइल के रूप में हुई है। वहीं प्रशासन ने इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया है।

Check Also

गुजरात नगरपालिका ने मोरबी पुल टूटने की ली जिम्मेदारी :

गुजरात हाई कोर्ट में आज आखिर मोराबी नगर पालिका ने यह बात स्वीकार किया कि …