कोविड 19 के समय कितना आवशयक हैं, हाथों धोना

लाइफस्टाइल डेस्क। आज के समय में हाथ धोना कितना जरुरी है आप जान सकते है , हाथ धोने से बीमारियों को दूर कर सकते है ग्लोबल हैंड वॉशिंग डे की शुरुआत 2008 में की गई थी। हर साल ग्लोबल हैंडवॉशिंग डे 15 अक्तूबर को मनाया जाता है। अगर आप हाथों को साफ रखेंगे तो स्वास्थ रहेंगे | और खाना खाने से पहले हाथ धोयेंगे और किसी को खाना खिलाने से पहले हाथ धोएं ताकि आप अपने परिवार को बीमारियों से बचा सके |
कोरोनाकाल में हाथ धोने की अहमियत और ज्यादा बढ़ गई है। डॉक्टर भी यह सलाह दे रहे हैं कि आप को स्वास्थ रहना हैं , तो हाथ धोएं बार- बार आप जानते हैं कि हैंड वॉश करके श्वसन और आंतों के रोगों को 25-50 फीसदी तक कम किया जा सकता है।

आप को बता दे कि ग्लोबल हैंड वॉशिंग डे की स्थापना 2008 में स्वीडन में की गई थी। ग्लोबल हैंडवॉशिंग पार्टनरशिप ने स्वीडन में आयोजित वर्ल्ड‍ वॉटर वीक में इस दिन की शुरुआत की थी, जिसका मकसद साबुन से हाथ धोने के प्रति लोगों में जागरूकता फैलाना था।
कोलगेट, पामोलिव, FHI 360, प्रॉक्‍टर एंड गैंबल, यूनिसेफ, यूनिलिवर और वर्ल्ड बैंक शामिल थे। इस दिन को सेलिब्रेट करने के लिए हर साल कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है, जिसका खास मकसद लोगों को हाथ धोने की अहमियत बताना है। हाथों की सफाई पर हैंडवॉशिंग कार्यक्रम चलाने वाले मध्य प्रदेश का नाम 2014 में गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज किया गया था।

Check Also

 साबूदाना खाने से मिलते हैं ये जबरदस्त फायदे

साबूदाने का नाम सुनते ही दिमाग में सफेद रंग के बीज या मोती जैसे खाद्य …