भविष्य में डायबिटीज से बचना चाहते हैं तो लाइफस्टाइल में कर लें ये 5 बदलाव

डायबिटीज लाइफस्टाइल से संबंधित बीमारी है जिसमें खून में शुगर की मात्रा बढ़ जाती है। अमूमन यह बीमारी उम्र बढ़ने के साथ होती है लेकिन पिछले कुछ सालों से डायबिटीज की बीमारी कम उम्र के लोगों को भी अपना शिकार बनाने लगी है। आंकड़ों के मुताबिक देश में 7।7 करोड़ लोग डायबिटीज के शिकार हैं। यानी हर 11 में से एक भारतीय को डायबिटीज है।

चीन के बाद सबसे ज्यादा डायबिटीज की बीमारी भारत में होती है। जियॉन लाइफसाइंस के सीनियर वाइस प्रेसीडेंट डॉ विवेक श्रीवास्तव कहते हैं कि आज 30 से 40 साल के लोग डायबिटीज से पीड़ित हैं। हैरानी की बात यह है कि इनमें से अधिकांश में डायबिटीज के कोई शुरुआती लक्षण भी नहीं दिखते है। अगर परिवार में किसी को डायबिटीज है, तो यह जोखिम और भी ज्यादा हो जाता है। हालांकि इसके बावजूद डाइट और लाइफस्टाइल में परिवर्तन कर डायबिटीज को होने से रोका जा सकता है।डायबिटीज का सबसे बड़ा कारण गतिहीन जीवनशैली है। इसलिए सबसे पहले रोजाना एक्सरसाइज या वर्कआउट करें। हमेशा शरीर को फूर्ति में रखें। डॉक्टर से दिखाएं और अगर डायबिटीज की आशंका है यानी ब्लड शुगर फास्टिंग में 100 के आसपास है तो अभी से डॉक्टर से परामर्श लें। इसके लिए शरीर को एक्टिव रखें। वजन कभी भी बढ़ने न दें। वॉकिंग करें, जॉगिंग करें, दौड़ लगाएं, एयरोबिक करें, डांस करें, साइकलिंग करें। जिन गतिविधियों से शरीर आपका व्यस्त रह सके, वो काम करें।

तनाव को दूर भगाएं
अगर आप अक्सर तनाव में रहते हैं तो आपकी जीवन की गुणवत्ता तो खराब होती ही है, आप प्रीडायबेटिक भी हो जाएंगे। इससे हार्मोन का पूरा संतुलन बिगड़ जाएगा। तनाव के कारण कॉर्टिसोल हार्मोन बढ़ जाएगा और एड्रेनेलीन का संतुलन बिगड़ जाएगा। इससे ब्लड शुगर का स्तर भी बढ़ जाएगा। इसलिए नई आदत बनाएं और हर हाल में तनाव को दिमाग से भगा दें।
वजन पर काबू रखें
किसी भी हाल में बॉडी मास इंडेक्स को 25 से ज्यादा नहीं होने दें। अगर मोटापा बढ़ेगा तो डायबिटीज का जोखिम भी बढ़ेगा ही। अगर आप प्रीडायबेटिक में आ गए हैं तो जितना जल्दी हो सके 5 से 10 प्रतिशत तक वजन कम करें।

मीठा पेय से परहेज करें

डायबिटीज में मीठा पेय या शुगर एडेड चीजें दुश्मन है। इसलिए सॉफ्ट डिंक, सोडा, अल्कोहल, बीयर आदि से परहेज करें। इसमें एनर्जी ड्रिंक, सॉफ्ट ड्रिंक और सीरप भी शामिल है। इन सबकी जगह पानी, कॉफी का सेवन करें।

शराब का सेवन काम करें
ज़्यादा शराब पीने वाले लोग ज़्यादा जल्दी वज़न बढ़ने की प्रवृत्ति रखते हैं। मोटापे से मधुमेह का खतरा भी बढ़ जाता है। अगर आपको प्रीडायबिटीज है, शराब रक्त शर्करा में वृद्धि का कारण बनकर आपको जल्दी मधुमेह दे सकता है।

पर्याप्त नींद लीजिये
रोज़ाना रात को कम से कम 7-8 घंटे की अच्छी नींद बहुत जरूरी है। पर्याप्त नींद दिन के दौरान आपकी ऊर्जा का स्तर उच्च रखेगी, साथ ही यह उच्च कैलोरी वाले भोजन के लिए आपकी लालसा कम करने में मदद करेगी।

Check Also

दूध पीने का सही समय क्या है जानिए ?

जिन लोगों को दूध पसंद है उनके लिए दूध पीने का वैसे तो कोई समय …