मोदी सरकार ने 715 रुपये प्रति 10 ग्राम सस्ता किया सोना , जानिये

बिजनेस डेस्क सरकर 12 से 16 अक्टूबर के बीच सोना सस्ता करने जा रही है | देशभर के सर्राफा के सभी बाजारों में बिक रहे सोने के औसत मूल्य की तुलना करें तो आपको 700 रुपये प्रति 10 ग्राम सस्ता मिल रहा है। आज 24 कैरेट सोने का मूल्य 51225 रुपये है सरकार गोल्ड बॉन्ड के रूप में 50510 रुपये प्रति 10 ग्राम के रेट से निवेश का मौका दे रही है |
सरकार सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड के रूप में सोने के कम भाव बढ़ने लाभ निवेशक को तो मिलता ही है, इन्वेस्टमेंट रकम पर 2.5 फीसद का गारंटीड फिक्स्ड ​इंटरेस्ट भी मिलता है।भौतिक सोने की मांग को कम करने और वित्तीय बचत में घरेलू बचत के एक हिस्से को स्थानांतरित करने का आदेश से 2015 में सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड योजना शुरू की गई थी। सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड योजना भारत सरकार ने सबसे पहले 30 अक्टूबर 2015 को लॉन्च किया गया था। सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम के अब तक 40 ट्रेंच हो चुके हैं।

सरकार ने पांच साल पहले इस ब्रांड में निवेश किया होगा, उनकी रकम दुगुनी हो जाती हैं 30 नवंबर 2015 को सरकार ने 2684 रुपये प्रति ग्राम यानी 26840 रुपये प्रति 10 ग्राम के रेट से सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड जारी किया था। मैच्योरिटी 30 नवंबर 2023 को पूरी होगी, लेकिन 30 नवंबर 2020 से निवेशक पैसा निकाल सकते हैं। सब्सक्रिप्शन के लिए आज से खुल रहे बॉन्ड की कीमत से तुलना करें तो 5 साल पहले निवेश करने वालों की रकम दोगुनी हो गई है। 12 से 16 अक्टूबर तक मिलने वाले गोल्ड की कीमत 5,051 रुपये प्रति ग्राम तय की गई है।
मोदी सरकार अब सातवीं सीरीज के रूप में एक बार फिर बॉन्ड लेकर आई है। यह बॉन्ड तब आया है जब सोने की कीमतें 56000 रुपये प्रति 10 ग्राम से गिरकर 51000 के आसपास गई है। बता दें सरकार की ओर से भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड जारी किए जाते हैं। वित्त वर्ष 2020-21 के लिए सरकार अक्टूबर 2020 से लेकर मार्च 2021 तक कुल छह सीरीज में सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड जारी करेगी

सातवीं सीरीज ,12 से 16 अक्टूबर 2020 , 20 अक्टूबर 2020 , आठवीं सीरीज , 9 से 13 नवम्बर 2020 ,20 अक्टूबर 2020 नौवीं सीरीज , 28 दिसंबर 2020 से एक जनवरी 2021 5 जनवरी 2021 , दसवीं सीरीज , 11 से 15 जनवरी 2021 19 जनवरी 2021 , 11 वी , 1 से 5 फरवरी 2021 , 9 जनवरी 2021 , 12 वी सीरीज ,1 से 5 मार्च 2021 , 9 मार्च 2021

आवेदन से साथ पैन कार्ड कार्ड होना जरुरी है | सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड में निवेशक को फिजिकल रूप में सोना नहीं मिलता। यह फिजिकल गोल्ड की तुलना में अधिक सुरक्षित है। तीन साल के बाद लांग टर्म कैपिटल गेन टैक्स लगेगा (मैच्योरिटी तक रखने पर कैपिटल गेन टैक्स नहीं लगेगा) वहीं इसका लोन के लिए इसका उपयोग कर सकते हैं। इन बॉन्ड्स की अवधि 8 साल की होती है। अगर बात रिडेंप्शन की करें तो पांच साल के बाद कभी भी इसको भुना सकते हैं।

Check Also

BSNL ने दिया अपने यूजर्स को नए साल का झटका,बंद होंगे ये प्लांस

भारत संचार निगम लिमिटेड (BSNL) ने दिया नए साल पर झटका , बंद कर दिये …