एक बार फिर अमेरिका चीन के बीच बनी तनाव की स्तिथि

चीन और अमेरिका के बीच एक बार फिर तनाव की स्थिति बनती जा रही है. इस बार चीन ने अमेरिका को भारत के साथ अपने रिश्तों को लेकर दखल न देने की चेतावनी जारी की है. इसी को लेकर चीन ने अमेरिकी अधिकारियों सीमा विवाद को लेकर बीच में न आने की चेतावनी दी है. अमेरिकी रक्षा विभाग के मुख्यालय पेंटागन ने कांग्रेस में पेश एक रिपोर्ट में यह जानकारी दी है। चीनी गणराज्य (PRC) तनाव कम करना चाहता है ताकि भारत और अमेरिका नजदीक न आ पाएं. यही कारण है कि उसे अमेरिका की दखलअंदाजी पसंद नहीं आ रही है. चीन की मंशा सीमा पर स्थिरता कायम करना है और भारत के साथ उसके द्विपक्षीय संबंध के अन्य क्षेत्रों को गतिरोध से होने वाले नुकसान से बचाना है. पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ़ चाइना के अधिकारियों ने अमेरिकी अधिकारियों को चेतावनी दी है कि वे भारत के साथ पीआरसी के संबंधों में हस्तक्षेप न करें। पेंटागन की रिपोर्ट में अमेरिका ने चीन पर आरोप लगाते हुए कहा कि चीन-भारत सीमा पर एक खंड में 2021 के दौरान पीएलए (PLA) ने सैन्य बलों की तैनाती को बनाए रखा और एलएसी (LAC) के पास बुनियादी ढांचे का निर्माण जारी रखा. रिपोर्ट में कहा गया है कि दोनों देशों (चीन-भारत) के बीच बातचीत में न्यूनतम प्रगति हुई क्योंकि दोनों पक्ष सीमा पर कथित अपने-अपने स्थान से हटने का विरोध करते रहे हैं. भारत और चीन दोनों देश अन्य सैन्य बल की वापसी की मांग कर रहे हैं और इसके कारण टकराव जैसी स्थिति बनी हुई है, लेकिन न तो चीन और न ही भारत इन शर्तों पर सहमत है.

Check Also

जेडीयू के नेता का भड़काऊ बयान

राजनीति में आए दिन भड़काऊ बयान आते रहते है और इसी वजह से विवाद कभी …