OPEC देश 12 लाख बैरल प्रतिदिन घटाएंगे प्रोडक्‍शन

नई दिल्ली. ओपेक देशों की बुधवार रात हुई मीटिंंग में क्रूड प्रोडक्‍शन में कटौती पर सहमति बन गई है। ओपेक ने क्रूड प्रोडक्‍शन में 12 लाख बैरल प्रतिदिन की कटौती करने का फैसला किया है। जनवरी से ओपेक देश रोजाना 3.25 लाख करोड़ बैरल प्रोडक्‍शन करेंगे। अभी यह लिमिट 3.37 लाख करोड़ बैरल है। साल 2008 के बाद ऐसा पहली बार हुआ है, जब ओपेक क्रूड उत्पादन में कटौती करेगा। क्रूड प्रोडक्‍शन में कटौती पर बनी सहमति के बाद क्रूड की कीमतों में तेजी दर्ज की गई। नायमैक्‍स पर क्रूड के भाव 8 फीसदी तक चढ़ गए थे।
crude_1480569149
सऊदी अरब की प्रोडक्‍शन लिमिट घटी
ऑर्गनाइजेशन ऑफ द पेट्रोलियम एक्‍सपोर्टिंग कंट्रीज (ओपेक) की  मीटिंग में सऊदी अरब के लिए क्रूड उत्पादन की सीमा घटाकर 1 करोड़ बैरल प्रतिदिन कर दी है। वहीं, ईरान के लिए 37.97 लाख बैरल की लिमिट तय की गई है। इंडोनेशिया ओपेक से बाहर हो गया है, जिसके चलते उसके हिस्से का कोटा बाकी सदस्य देशों में बांट दिया गया है।
50 डॉलर पर लाएंगे भाव: फलीह
ओपेके की मीटिंग के बाद सऊदी अरब के एनर्जी मिनिस्टर खालिद ए. अल फलीह ने बताया कि इस डील से क्रूड की कीमतों में स्थिरता आएगी। इस कटौती का मकसद क्रूड की कीमतों को बढ़ाकर 50 डॉलर प्रति बैरल के लेवल पर लाना है। बैठक में कटौती के बाद क्रूड कीमतें 49 डॉलर प्रति बैरल पर आ गई हैं।
क्या था कटौती पर ओपेक देशों का तर्क? 
ओपेक के लगभग सभी सदस्‍य देश प्रोडक्‍शन में कटौती पर पहले ही सहमत थे। हालांकि रूस और ईरान के इस मसले पर अपने तर्क थे। रूस का कहना था कि वह आउटपुट बंद करने को तैयार है, लेकिन कटौती नहीं करेगा। वहीं ईरान का तर्क रहा है कि जब तक उसका प्रोडक्‍शन प्रतिबंध से पूर्व के लेवल पर नहीं पहुंच जाता तब तक वह प्रोडक्‍शन कट नहीं करेगा।
इराक भी प्रोडक्‍शन घटाने पर सहमत
वहीं एक और ओपेक देश इराक ने भी प्रोडक्‍शन में कटौती पर अपनी सहमति दी है। इराक के पीएम हैदर अल अबादी ने कहा था कि उनका देश ओपेक के हिसाब से कटौती करने को तैयार है।

Check Also

BSNL ने दिया अपने यूजर्स को नए साल का झटका,बंद होंगे ये प्लांस

भारत संचार निगम लिमिटेड (BSNL) ने दिया नए साल पर झटका , बंद कर दिये …