SC ने दिया झटका केजरीवाल को, नहीं रूकेगी मानहानि मामले की सुनवाई

 

नई दिल्ली। वित्त मंत्री अरुण जेटली द्वारा दायर मानहान‍ि के केस में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को कोई राहत नहीं मिली है। सुप्रीम कोर्ट ने उन्‍हें बड़ा झटका देते हुए कहा है कि मामले की सुनवाई जारी रहेगी। इसके बाद केजरीवाल को अब दीवानी और फौजदारी के दोनों मामलों में अदालत का सामना करना पड़ेगा।

 

मंगलवार को सुनवाई के दौरान केजरीवाल के वकील रामजेठ मलानी को भी झटका लगा है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि ऐसा कोई कानून नहीं है, जिसमें कहा गया हो कि जब फौजदारी मामला चल रहा हो तो दीवानी मामले को पेंडिंग रखा गया।

 

यहां पर बता दें कि यह मामला काफी रोचक हो चुका है, क्योंकि केजरीवाल की ओर से वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी होंगे और जेटली की ओर से पैरवी अटार्नी जनरल मुकुल रोहतगी करेंगे। वे यह केस निजी आधार पर लड़ेंगे।

 

सोमवार को इस मामले की सुनवाई के दौरान केजरीवाल की ओर से कहा गया था कि राम जेठमलानी उपलब्ध नहीं हैं, इसलिए मामले की सुनवाई को टाल दिया जाए। जेटली की ओर से पैरवी करने के लिए अटार्नी जनरल मुकुल रोहतगी मौजूद रहे। इसके बाद जस्टिस पीसी घोष और जस्टिस यूयू ललित ने सुनवाई को मंगलवार तक के लिए टाल दिया था।

arvind_kejriwal_146841430

दरअसल, डीडीसीए में घोटाले के आरोप लगाने पर पटियाला हाउस कोर्ट में चल रहे अरुण जेटली आपराधिक मानहानि मामले पर रोक लगाने के लिए दाखिल दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट को सुनवाई करनी थी। इससे पहले दिल्ली हाई कोर्ट ने निचली अदालत में चल रहे मामले में आपराधिक कार्रवाई पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था।

लेकिन हाई कोर्ट ने कहा कि ट्रायल कोर्ट में आपराधिक मामला चलता रह सकता है और मानहानि के मामले के कारण इस पर रोक लगाने की कोई जरूरत नहीं है। केजरीवाल ने कहा था कि आपराधिक और सिविल केस साथ-साथ नहीं चल सकते।

 

दिल्ली हाईकोर्ट में सिविल केस चल रहा है, इसलिए मजिस्ट्रेट कोर्ट में मामले पर रोक लगनी चाहिए। गौरतलब है कि केजरीवाल समेत आम आदमी पार्टी के पांच नेताओं पर जेटली ने मानहानि का केस दर्ज कराया था। इन नेताओं ने सार्वजनिक तौर पर जेटली पर भ्रष्टाचार करने का आरोप लगाया था।

 

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली द्वारा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ दायर किए गए मानहानि मामले में आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। इसमें आम आदमी पार्टी सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल को झटका लगा है। केजरीवाल को अब दीवानी और फौजदारी के दोनों मामलों में अदालत का सामना करना पड़ेगा।

 

Check Also

वरुण किस पार्टी के साथ करेगे विलय

जहां पर वरूण गांधी को लेकर कांग्रेस में आने के कयास लगाए जा रहा थे। …