सुभ कार्यो में बनाये जाने वाली कचौड़ी के देखिये यह आसान तरीके

लाइफस्टाइल डेस्क। आज के समय में कचौड़ियां खाना लोगो को बहुत पसंद हैं कचौड़ियों की सबसे खास बात यह होती हैं कि इन्हें काफी दिनों तक खाया जा सकता हैं आज हम आपको कचौड़ी की रेसिपी बताने जा रहे हैं।

मैदा -2 कप खाने वाला सोडा -आधा छोटा चम्मच नमक स्वादानुसार घी -5 बड़े चम्मच भरावन के लिए सामग्री धुली उड़द दाल -1/2 कप अदरक -एक इंच का टुकड़ा हरी मिर्च -एक काजू -6 – 8 किशमिश -एक बड़ा चम्मच घी -3 बड़े चम्मच हींग -एक चुटकी धनिया पाउडर -एक छोटा चम्मच जीरा पाउडर -आधा छोटा चम्मच लाल मिर्च पाउडर -एक छोटा चम्मच सौंफ पाउडर एक चौथाई चम्मच चीनी आधा छोटा चम्मच नमक स्वादानुसार नींबू का रस -एक छोटा चम्मच तेल/घी तलने के लिए. मैदा, नमक और सोडा मिलाकर छान ले इसमें तेल अच्छी तरह मिलाएं इसमें पानी मिलाकर नरम गूंद लें। अब इसे भीगे कपड़े से ढक दें और एक किनारे रख दें। उड़द दाल को एक कप पानी में एक घंटे के लिए भिगो दें। एक घंटे के बाद दाल का पानी निकालकर उसे बहुत थोड़ा पानी डालकर दरदरा पीस लें। अदरक को छीलकर, धो कर महीन काट लें। हरी मिर्च काट लें। काजू को भी छोटे टुकड़ों में काट लें। किशमिश को धोएं और हलके हाथ से दबाते हुए कपड़े में सुखा लें।

एक कड़ाही में डालडा गर्म करें। इसमें पिसी हुई दाल, अदरक, हरी मिर्च, हींग, धनिया पाउडर, जीरा पाउडर, लाल मिर्च, सौंफ, काजू और किशमिश मिलाएं। तब तक पकाएं, जब तक कि सारी नमी सूख ना जाए। इसमें चीनी, नमक और नीबू का रस मिलाएं। इसे अच्छी तरह मिलाकर आंच से उतार लें। मिश्रण को ठंडा होने दें। अब गूंदे हुए मैदे की लोई बना लें। प्रत्येक लोई को इस तरह छोटी पूरी के आकार में बेलें कि किनारों की तरफ पतली हो और बीच में मोटी रहे। इसके बीच में भरावन की सामग्री भरकर उन्हें बंद कर गोल लोई बनाएं और हल्के हाथ से चपटा बेल दें। अब कड़ाही में डालडा डालकर धीमी आंच पर सुनहरा होने तक तल लें। इसे इमली की चटनी के साथ परोसें।

 

Check Also

 साबूदाना खाने से मिलते हैं ये जबरदस्त फायदे

साबूदाने का नाम सुनते ही दिमाग में सफेद रंग के बीज या मोती जैसे खाद्य …