पंजाब में कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों ने सिद्धू को दिखाए काले झंडे

एक रिपोर्ट के अनुसार पंजाब इकाई के नवनियुक्त कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू को मंगलवार को लुधियाना में केंद्र द्वारा बनाए गए तीन कृषि कानूनों के विरोध में किसानों ने काले झंडे दिखाए। सिद्धू लुधियाना के भगत सिंह मार्ग पहुंचे थे जहां एक किसान संगठन कृषि कानूनों का विरोध कर रहा था।

बंगा के एसएचओ अवतार सिंह ने एक रिपोर्ट में कहा, “प्रदर्शनकारी सिद्धू से सवाल करना चाहते थे। कांग्रेस नेता दूसरी तरफ थे और झड़पों से बचना चाहते थे। कोई लाठीचार्ज नहीं किया गया।”

सिद्धू को रविवार को पंजाब कांग्रेस का अध्यक्ष नियुक्त किया गया। एक दिन बाद, उन्होंने पटियाला में गुरुद्वारा श्री दुखनिवारन साहिब का दौरा किया और पूजा-अर्चना की। हफ्तों की कड़वी लड़ाई के बाद रविवार शाम सिद्धू को पंजाब कांग्रेस का अध्यक्ष घोषित किया गया।

अपने समर्थकों और पार्टी के कुछ सदस्यों के साथ गुरुद्वारे में पूजा-अर्चना करने के बाद वह बाद में पटियाला स्थित अपने आवास पहुंचे।

2022 का विधानसभा चुनाव जीतने के लिए कांग्रेस पार्टी पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और सिद्धू पर एक साथ अपनी उम्मीदें लगा रही है।

पार्टी सदस्यों ने सिद्धू को पंजाब इकाई सौंपने के कांग्रेस के कदम का स्वागत किया है और कहा है कि यह एक सोची समझी चाल है। उन्होंने यह भी दावा किया कि कोई भी इस फैसले से परेशान नहीं है और सब कुछ ठीक हो जाएगा।

प्रदेश की धड़कन, 'इंडिया जंक्शन न्यूज़' के ताजा अपडेट पाने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से...

Check Also

सदन में हंगामे से 'दुखी', लोकसभा अध्यक्ष ने दी सख्त कार्रवाई की चेतावनी

सदन में हंगामे से ‘दुखी’, लोकसभा अध्यक्ष ने दी सख्त कार्रवाई की चेतावनी

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने गुरुवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह …