यमुना का जल स्तर ओखला बैराज से पानी छोड़े जाने के बाद बढ़ा

 

आगरा , 09 जुलाई (आरएनएस)। बीते दस दिन में ओखला बैराज से 12,100 क्यूसेक पानी छोड़े जाने से यमुना के जलस्तर में तकरीबन साढ़े तीन फुट की वृद्धि हुई है। जलस्तर बढऩे से आमतौर पर सूखी रहने वाली यमुना का नजारा बदल ही गया है, आगरा की जनता पीने के पानी के लिए भी नहीं तरसेगी। दस दिन पहले पहाड़ों पर और एनसीआर क्षेत्र में मूसलाधार बारिश होने के कारण ओखला बैराज से यमुना में 8,800 क्सूसिक पानी छोड़ा गया था। चार दिन पहले भी ओखला बैराज से 3, 300 क्यूसेक पानी छोड़ा गया था। ओखला से 12,100 क्यूसेक पानी छोड़े जाने से गोकुल बैराज से भी आगरा के लिए पानी का डिस्चार्ज बढ़ा दिया गया है। मान्य दिनों में गोकुल बैराज से आगरा की तरफ यमुना में 100 से 150 क्यूसेक के बीच पानी छोड़ा जाता है। लेकिन इन दिनों इसकी मात्र कई गुना बढ़ गई है और रोजाना 7,000 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। ये पानी अब आगरा यमुना में आ गया है। इस कारण यमुना में पानी की मात्र बढ़ गई है। अन्य दिनों में वाटर वकर््स पर यमुना का जलस्तर 480 फुट के करीब रहता है, लेकिन इन दिनों यह आंकड़ा 483 फुट पर आ गया है। इसलिए आगरा वासियों के पीने के पानी की समस्या भी समाप्त हो गयी है। वाटर वकर््स इन दिनों पर्याप्त पानी की आपूर्ति कर रहा है। सिंचाई विभाग के अनुसार, यदि पहाड़ों पर बारिश होती रही तो ओखला से यमुना में पानी छोडऩे का सिलसिला जारी रहेगा।
00

Check Also

अखिलेश और शिवपाल के नजदीक होने से प्रसपा नेता बैचेन

यह समाजवादी पार्टी के उस समय के दृश्य हैं,जब पूरा परिवार “मुखिया मुलायम सिंह यादव” …